पूर्व प्रधानमंत्री Rajiv Gandhi की 30वीं पुण्यतिथि पर राहुल-प्रियंका ने पिता को किया याद, जानें पायलट से कैसे बने नेता

राजीव गांधी की 30वीं पुण्यतिथि के मौके पर, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा समेत देश के तमाम नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

नई दिल्ली: देश के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी (Rajiv Gandhi) की 30वीं पुण्यतिथि के मौके पर तमाम राजनीतिक दलों के नेता,  कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा ने अपने पिता को श्रद्धांजलि दी है। 21 मई 1991 को तमिलनाडु में राजीव गांधी की हत्या कर दी गई थी।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने अपने पिता श्रद्धांजलि देते हुए एक तस्वीर साझा करते हुए लिखा है कि सत्य, करुणा, प्रगति।

प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) ने भी अपने पिता राजीव गांधी के पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि देते हुए एक तस्वीर साझा किया है। उन्होंने लिखा है कि, प्रेम से बड़ी कोई शक्ति नहीं है, दया से बड़ा कोई साहस नहीं है, करुणा से बड़ी कोई शक्ति नहीं है और विनम्रता से बड़ा कोई गुरु नहीं है।

सोनिया गांधी से मुलाकात

राजीव गांधी (Rajiv Gandhi) का जन्म 20 अगस्त, 1944 को हुआ था। वो इन्दिरा गांधी के पुत्र और जवाहरलाल नेहरू के (नाती) है। राजीव गांधी भारत के 6वें प्रधानमंत्री थे।

उनकी शादी एंटोनिया माईनो से हुआ जो उस समय इटली की नागरिक थी। शादी के बाद उनकी पत्नी ने नाम बदलकर सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) कर लिया। कहा जाता है कि राजीव गांधी से उनकी मुलाकात तब हुई जब राजीव कैम्ब्रिज (Cambridge) में पढने गये थे। उनकी शादी 1968 में हुई जिसके बाद वे भारत में रहने लगी।

पायलट से बने प्रधानमंत्री

राजीव गांधी की राजनीति में कोई रूचि नहीं थी और वो एक एयरलाइन पायलट की नौकरी करते थे। परंतु 1980 में अपने छोटे भाई संजय गांधी की एक हवाई जहाज दुर्घटना में असामयिक मृत्यु के बाद मां इंदिरा को सहयोग देने के लिए सन् 1981 में राजीव गांधी ने राजनीति में प्रवेश लिया। वो अमेठी से लोकसभा का चुनाव जीत कर सांसद बने और 31 अक्टूबर 1984 को अंगरक्षकों द्वारा प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या किए जाने के बाद भारत के प्रधानमंत्री बने और अगले आम चुनावों में सबसे अधिक बहुमत पाकर प्रधानमंत्री बने रहे।

Fact Check : Was leave approved only to Rajiv Gandhi during Indo-Pak war in  1971?

 

यह भी पढ़ेबनारस के फ्रंट लाइन वर्कर्स को PM मोदी ने दिया नया मंत्र, बोले- जहां बीमार वहीं उपचार

Related Articles