मिसाल बनी राजस्थान की ये लड़की, ईव-टीजिंग के खिलाफ शोहदों को दिया मुंहतोड़ जवाब

भरतपुर। राजस्थान में एक लड़की ने अपना दम-ख़म दिखाते हुए कुछ शोहदों के छक्के छुड़ा दिए। लड़की का आरोप है कि यह लड़के उसका आए दिन पीछा करते थे। साथ ही उसे बदनाम करने के लिए अफवाहे भी फैलाते थे। इस बात से तंग आकर इस लड़की ने उन्हें खुद ही सबक सिखाने का मन बना लिया। एक दिन जब उन्होंने दोबारा उसका पीछा करने की कोशिश की तो लड़की ने वहीं रुक कर उन आवारा लड़कों की लाठी से पिटाई कर दी। बता दें इस पूरे नजारे का एक वीडियो हाल ही में सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुआ था।

गूगल ने डूडल बनाकर बिग बैंग सिद्धांत के पुरोधा लेमैत्रे को…

शोहदों के छक्के छुड़ा दिए

लड़की का कहना है कि उन जैसी शोहदों को सबक सिखाना जरूरी था, ताकि भविष्य में वे किसी लड़की को कमजोर ना समझें। इसके साथ ही उस लड़की ने ऐसे लोगों को एक मैसेज भी दिया। इसमें उसने कहा कि यदि इस मानसिकता के लोग खुद को डोनाल्ड ट्रंप का बेटा समझते है तो यह उनकी गलतफहमी है। गलत के खिलाफ आवाज उठाना सबको आता है।

सुप्रीम कोर्ट ने IPC की धारा 377 पर शुरू की सुनवाई

खबरों के मुताबिक़ राजस्थान के भरतपुर जिले में एक लड़की ने युवक की जमकर लाठी-डंडे से पिटाई कर दी। लड़की को पीटता देख वहां कई लोग इकट्ठा हो गए।

लड़की ने बताया कि कुछ लड़के उसे बदनाम करने की कोशिश कर रहे रहे थे। उसके बारे में गलत अफवाहें फैला रहे थे और पीछा कर रहे थे।

लड़की ने कहा, ‘यह मेरा उनको मेसेज है कि किसी लड़की को कमजोर न समझें। कोई लड़की कमजोर नहीं है। अगर कोई सीमा लांघेंगा तो हम अपनी आवाज उठाएंगे।’ बता दें पिटाई का ये विडियो 11 जुलाई को सामने आया था।

बता दें इस लड़की ने मामले की शिकायत पुलिस में नहीं की है। लड़की का कहना है कि उसकी शिकायत से उन शोहदों को सजा तो मिल जाती, लेकिन सुधरने का मौक़ा नहीं मिलता। वह लडकी उन्हें सुधरने का मौक़ा देना चाहती है।

Related Articles