राजनाथ सिंह ने ASEAN बैठक में चीन को घेरा, बोले ‘आतंकवाद दुनिया के लिए अभिशाप’

राजनाथ सिंह ने आसियान देशों वर्चुअल बैठक में चीन को संयम बरतने की सीख दी

नई दिल्ली: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आसियान देशों के रक्षा मंत्रियों की वर्चुअल बैठक में चीन का नाम लिये बिना कहा कि सभी सदस्य देशों को संयम बरतना चाहिए और कोई ऐसा कदम नहीं उठाया जाना चाहिए जिससे स्थिति जटिल बन जाये।

वर्चुअल संवाद

चीन के साथ पूर्वी लद्दाख में पिछले छह महीने से भी अधिक समय से चल रहे सैन्य गतिरोध के बीच राजनाथ सिंह ने गुरूवार को वर्चुअल संवाद के दौरान चीनी रक्षा मंत्री की मौजूदगी में यह बात कही। रक्षा मंत्री ने वियतनाम के हनोई में आयोजित आसियान देशों के रक्षा मंत्रियों की 14 वीं बैठक में कहा, “ परस्पर विश्वास तथा भरोसा बढाते हुए जब हम अपनी गतिविधियों में संयम बरतते हैं और इस तरह की कार्रवाई से बचते हैं जिससे स्थिति जटिल बन सकती है तो हमें क्षेत्र में लंबे समय तक शांति बनाये रखने में सफलता मिलेगी।”

एडीडीएम प्लस मंच की बैठक

इस बैठक में दस आसियान देशों के साथ-साथ आठ सहयोगी देशों के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया। एडीडीएम प्लस मंच की यह दसवीं बैठक थी। इस मौके पर एक विशेष आयोजन भी किया गया जिसमें वियतनाम के प्रधानमंत्री नयूयेन जुआन और रक्षा मंत्री ने हिस्सा लिया। राजनाथ सिंह ने इस विशेष सत्र को भी संबोधित किया।

दुनिया के लिए बड़ा अभिशाप

रक्षा मंत्री ने कहा कि आतंकवाद क्षेत्र और दुनिया के लिए एक बड़ा अभिशाप है। उन्होंने कहा कि आतंकवाद को समर्थन देने तथा उसे आश्रय देने वाला तंत्र भारत के पड़ोस सहित अन्य जगहों पर अभी भी मौजूद है। उन्होंने आतंकवाद से जोरदार तरीके से मिलकर लड़ने की मजबूत प्रतिबद्धता का आह्वान करते हुए अंतर्राष्ट्रीय तंत्र को मजबूत करने की जरूरत पर बल दिया।

यह भी पढ़ेअनंतनाग में चुनाव के दौरान पत्रकारों के साथ मारपीट, पुलिस अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई

यह भी पढ़ेअनंतनाग में चुनाव के दौरान पत्रकारों के साथ मारपीट, पुलिस अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई

Related Articles