वाजपेयी के निधन पर शोक जताने के बाद राज्यसभा दो दिन के लिए स्थगित

नई दिल्ली :  भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर शोक जाहिर करने के बाद राज्यसभा को मंगलवार को दिन भर के लिए स्थगित कर दिया गया। राज्यसभा के सभापति एम. वेंकैया नायडू ने सदन के शुरू होने पर शोक संदेश में कहा, “वाजपेयी जी देश के राजनीतिक नेतृत्व के वरिष्ठ व प्रतिष्ठित नेताओं में से एक थे, जिन्होंने स्वतंत्रता के बाद के घटनाक्रम को प्रभावित किया। अपने लंबे सार्वजनिक जीवन में वाजपेयी जी राजनीतिक गरिमा के प्रतीक बने रहे।”

सदन ने पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सोमनाथ चटर्जी, पूर्व संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार, पूर्व राज्यसभा सदस्य आर.के.दोरेंद्र सिंह, कुलदीप नैयर, करमा तोपडेन, नंदमूरि हरिकृष्णा, दर्शन सिंह यादव, रत्नाकर पांडेय, सत्य प्रकाश मालवीय, राम देव भंडारी, मालती शर्मा, एन.डी. तिवारी, पी. के. माहेश्वरी व बैष्णब परीदा के निधन पर भी शोक जताया।सभापति नायडू ने शोक संदेश के दौरान कहा कि अनंत कुमार के रूप में उन्होंने एक प्रिय मित्र खो दिया है।

सदन में प्राकृतिक आपदाओं में मारे गए लोगों के निधन पर भी शोक जाहिर किया गया। ओडिशा व आंध्र प्रदेश में आए तितली चक्रवात व तमिलनाडु में आए गज चक्रवात में लोगों की मौत पर शोक जताया गया।

सदन को मृतकों के निधन पर दो मिनट का मौन रखे जाने के बाद स्थगित कर दिया गया।

Related Articles