राज्यसभा कार्यवाही: कांग्रेस सांसदों ने किया Walk out, जानें PM मोदी की बड़ी बातें

PM मोदी ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि मैंने देखा कि यहां कांग्रेस के साथियों ने कृषि कानूनों पर चर्चा की, वो रंग पर तो बहुत चर्चा कर रहे थे कि काला है या सफेद है

नई दिल्ली: BJP ने अपने लोकसभा सांसदों को आज सदन में उपस्थित रहने के लिए तीन लाइन का व्हिप (Whip) जारी किया। राज्यसभा की कार्यवाही में PM मोदी ने कहा कि देश जब आजाद हुए तो आखिरी ब्रिटिश कमांडर यही कहते रहते थे कि भारत कई देशों का महाद्वीप है, कोई भी इसे एक राष्ट्र नहीं बना पाएगा। परन्तु भारतवासियों ने इस आशंका को तोड़ा। आज हम विश्व के सामने एक राष्ट्र के रूप में खड़े हैं और विश्व के लिए एक आशा की किरण हैं।

कोरोना काल में भारतीयों को राशन

प्रधानमंत्री मोदी ने लोकसभा में कहा कि ये हिन्दुस्तान है जो लगभग 75 करोड़ भारतीयों को कोरोना काल के दौरान 8 महीने तक राशन पहुंचा सकता है। मोदी ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि मैंने देखा कि यहां कांग्रेस के साथियों ने कृषि कानूनों पर चर्चा की, वो रंग पर तो बहुत चर्चा कर रहे थे कि काला है या सफेद है, परन्तु अच्छा होता अगर वो इनके इंटेंट पर और इसके कंटेंट पर चर्चा करते।

कांग्रेस का पलटवार

लोकसभा से कांग्रेस के वॉकआउट पर अधीरंजन चौधरी ने PM मोदी के सवालों का उत्तर देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री जी के जवाब में हमने बहुत चीजों की अपेक्षा की थी। उन्होंने ये कह दिया कि इससे (कृषि कानून) किसी को लाभ हो सकता है किसी को हानि भी हो सकती है। परन्तु सभी के लाभ के लिए कानून लाना चाहिए था।

 

शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने बोला कि जब केंद्र में कांग्रेस की सरकार थी, मुख्यमंत्रियों की कमेटी बनी थी। इस कमेटी का नेतृत्व नरेंद्र मोदी ने किया था। उस कमेटी के हेड ने कहा था कि MSP को स्टेच्युटरी लीगल (Statutory Legal) होना चाहिए था और आज मुकर गए।

यह भी पढ़ेCorona Update: इन राज्यों को बड़ी सफलता, कोरोना से नहीं हुई कोई मौत

कृषि कानूनों से किसानों को नुकसान

सदन में केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कृषि कानून पर जवाब दिया कि सदन की चर्चा में एक भी सांसद नहीं बता पाया कि कृषि कानूनों से किसानों को नुकसान कैसे होगा। किसानों से अनुरोध है कि इनकी बातों से भ्रमित न हों। किसानों को समझने की जरूरत है कि जब कहा गया था कि उनका मंच राजनीतिक दलों के लिए नहीं है तो यह बदलाव कैसे आया।

यह भी पढ़ेKisan Andolan: प्रियंका गांधी का BJP पर निशाना, बोली ‘3 कृषि कानून राक्षस रूपी कानून हैं’

Related Articles

Back to top button