Raksha Bandhan 2021: जानिए राखी का शुभ मुहूर्त, तारीख से लेकर सबकुछ…

हिंदू पंचांग के अनुसार रक्षाबंधन का पर्व 22 अगस्त 2021 रविवार के दिन श्रावण मास की शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि को मनाया जाएगा

नई दिल्ली: भारतीय धर्म संस्कृति के अनुसार रक्षाबंधन (Raksha Bandhan) का त्योहार श्रावण माह की पूर्णिमा को मनाया जाता है। यह त्योहार भाई-बहन को स्नेह की डोर में बांधता है। इस दिन बहन अपने भाई के मस्तक पर टीका लगाकर रक्षा का बंधन बांधती है, जिसे राखी कहते हैं। सावन में मनाये जाने के कारण इस त्योहार को सावनी या सलूनो भी कहते हैं। हिंदू पंचांग के अनुसार रक्षाबंधन का पर्व 22 अगस्त 2021 रविवार के दिन श्रावण मास की शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि को मनाया जाएगा।

पूजा का शुभ मुहूर्त

पंचांग के अनुसार रक्षाबंधन का शुभ मुहूर्त 22 अगस्त 2021 को सुबह 06 बजकर 15 मिनट से लेकर शाम 05 बजकर 31 मिनट कर रहेगा।

रक्षाबंधन में राखी या रक्षासूत्र का सबसे अधिक महत्त्व है। राखी कच्चे सूत जैसे सस्ती वस्तु से लेकर रंगीन कलावे, रेशमी धागे, और सोने या चांदी जैसी मंहगी वस्तु तक की हो सकती है। रक्षाबंधन (Raksha Bandhan) के दिन बहने भगवान से अपने भाईयों की तरक्की के लिए भगवान से प्रार्थना करती है। राखी सामान्यतः बहनें भाई को ही बांधती हैं परन्तु ब्राह्मणों, गुरुओं और परिवार में छोटी लड़कियों द्वारा सम्मानित सम्बंधियों भी बांधी जाती है। कभी-कभी सार्वजनिक रूप से किसी नेता या प्रतिष्ठित व्यक्ति को भी राखी बांधी जाती है।

राखी, उपहार और मिठाई

रक्षाबंधन के दिन बाजार मे कई सारे उपहार बिकते है, उपहार और नए कपड़े खरीदने के लिए बाजार मे लोगों की सुबह से शाम तक भीड होती है। घर मे मेहमानों का आना जाना रहता है। रक्षाबंधन के दिन भाई अपने बहन को राखी के बदले कुछ उपहार देते है। रक्षाबंधन एक ऐसा त्योहार है जो भाई बहन के प्यार को और मजबूत बनाता है, इस त्योहार के दिन सभी परिवार एक हो जाते है और राखी, उपहार और मिठाई देकर अपना प्यार साझा करते है।

यह भी पढ़ेपार्टियों को चयन के 48 घंटे के भीतर उम्मीदवारों के आपराधिक इतिहास को सार्वजनिक करें: HC

(Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles