IPL
IPL

Ram Temple: ‘पैसे नहीं दिए तो आपको धर्म से बाहर निकाल देंगे’

महाराष्ट्र कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष नाना पटोले ने कहा कि भगवान श्री राम जी के नाम पर चंदा मांगने वाले कुछ लोग मेरे पास आए। मैंने उनसे पूछा कि 30 साल पहले आप मंदिर बनाने के लिए पैसे लेकर गए थे तो वो पैसे कहां है

नई दिल्ली: अयोध्या (Ayodhya) में भव्य राम मंदिर (Ram Temple) के निर्माण के लिए ‘समर्पण निधि अभियान’ के तहत देश के लोग अपनी-अपनी क्षमता के अनुसार सोना-चांदी, रूपया-पैसा दान कर रहे हैं। महाराष्ट्र कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष नाना पटोले (Nana Patole) ने राम मंदिर निर्माण के लिए चंदा लेने पर ऐतराज जताते हुए विपक्ष पर किया सवालों की बौछार।

धर्म से बाहर निकाल देंगे

महाराष्ट्र कांग्रेस कमेटी (Maharashtra Congress Committee) के अध्यक्ष नाना पटोले (Nana Patole) ने कहा कि भगवान श्री राम जी के नाम पर चंदा मांगने वाले कुछ लोग मेरे पास आए। मैंने उनसे पूछा कि 30 साल पहले आप मंदिर बनाने के लिए पैसे लेकर गए थे तो वो पैसे कहां है। तो उन्होंने कहा कि अगर आप ने पैसे नहीं दिए तो आपको धर्म से बाहर निकाल देंगे।

समर्पण निधि अभियान

राम मंदिर निर्माण के लिए ‘समर्पण निधि अभियान’ के तहत विपक्ष से समाजवादी पार्टी के नेता मुलायम सिंह यादव की बहू अपर्णा यादव ने भी अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए 11 लाख रुपये का दान दिया है।

अपर्णा यादव ने कहा कि प्रांत प्रचारक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ सेवक संघ अवध प्रांत श्रीमान कौशलजी की उपस्थिति में मैंने अपने और अपने कार्यकर्ताओं के सहयोग से श्री रामजन्मभूमि मंदिर निर्माण हेतु ‘समर्पण निधि अभियान’ में 11 लाख 11,000 धनराशि का योगदान दिया। उन्होंने कहा, मैंने इसे अपनी स्वेच्छा से किया है।

यह भी पढ़ेWest Bengal Assembly Election: BJP का बढ़ा मनोबल, ‘दीदी’ की बढ़ सकती हैं मुश्किलें

कारसेवकों पर चली गोली

अयोध्या में कारसेवकों पर समाजवादी सरकार में चलवाई गई गोली को लेकर आरोपों के प्रश्नों का उत्तर देते हुए अपर्णा यादव ने कहा था कि उन्होंने जो भी किया, जिन परिस्थितियों में जो कुछ भी हुआ, वह बहुत दुखत था। इस मामले में मुझे कोई टिप्पणी नहीं करना चाहिए। जो पुराना बीत गया वो आज में बदल नहीं सकता इसलिए हमें आज में जीना चाहिए।

यह भी पढ़े‘मील का पत्थर साबित होगा HURL प्लांट’, किसानों एंव युवाओं को मिलेगा लाभ

Related Articles

Back to top button