योगी ने कहा- राम की नैया पार लगाने वालों को भी हो आरक्षण का फायदा

0

लखनऊः यूपी को सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राम की नैया पार लगाने वाली केवट, निषाद, बिन्द, माझी, कश्यप जातियों को आरक्षण का फायदा होना चाहिए इसके लिए बीजेपी सरकार पूरी तरह से काम कर रही है।

सीएम योगी ने शुक्रवार को लोक निर्माण विभाग के विश्वेश्वरैया हॉल हुए एक आयोजन कहीं। बीजेपी-पिछड़ा वर्ग मोर्चा, उत्तर प्रदेश के महाराज कश्यप, निषादराज के वंशजों के सम्मेलन’को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि सपा की सरकार ने इस मामले को कोर्ट में लटकाया है। जबकि बीजेपी द्वारा सामाजिक न्याय समिति का गठन करके निषाद समाज को आरक्षण का लाभ देने का प्रयास कर रही है।

सीएम योगी ने कहा कि पूर्व के समय में पश्चिमी यूपी में गुड़ और खाण्डसारी उद्योग पर निषाद समाज का बोल बाल था। सपा सरकार ने मिल मालिकों को लाइसेन्स देना बंद कर दिया। लेकिन बीजेपी सरकार ने दोबारा लाइसेन्स देने की व्यवस्था की है। अब गुड़ और खाण्डसारी का लाइसेंस नि:शुल्क वितरित किया जा रहा है।

उन्होने कहा कि निषाद, बिन्द, माझी, कश्यप आदि का सबसे ज्यादा वास्ता नाव से है। बरसात में आप जान जोखिम में डालकर दूसरों के प्राण बचाते हैं। कभी-कभी सांप काटने या नाव पलटने से जन हानि होती है। उनको मुआवजा भी नहीं मिल पाता था। हमारी सरकार ने ऐसी घटनाओं में जन हानि होने पर चार लाख रुपए का मुआवजा देने की व्यवस्था की है। वन्य जीव हमले में भी मुआवजे की व्यवस्था की गई है।

ये भी पढ़ें……अटल बिहारी को एक और श्रद्धांजलि, ‘हजरतगंज चौराहा’ अब हुआ ‘अटल चौक’

सीएम ने कहा किसी भी समाज को अपने पूर्वजों, परंपरा, संस्कृति के प्रति सम्मान का भाव रखना चाहिए। निषाद समाज के लोग गौरवशाली हैं कि यह संसार के सबसे प्राचीन जाति हैं। इनका संबन्ध मत्स्यावतार से है। निषाद समाज के महाराज गुह्य भगवान श्रीराम के सहयोगी थे।

loading...
शेयर करें