रामगोिंवंद चौधरी: देवरिया कांड की सीबीआई जांच सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ न्यायाधीश की निगरानी में हो

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के देवरिया में बालिका आश्रय गृह से गायब हुई बालिकाओं के मामले को लेकर समाजवादी पार्टी (सपा) के वरिष्ठ नेता और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामगोिंवंद चौधरी ने कहा है कि देवरिया कांड की सीबीआई जांच सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ न्यायाधीश की निगरानी में कराए जाने की जरूरत है। उन्होंने योगी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि अपना पाप छिपाने के लिए मुख्यमंत्री पूर्ववर्ती सरकारों पर आरोप मढ़ रहे हैं।
रामगोविंद चौधरी ने कहा, “देवरिया कांड के मामले में योगी सरकार अपना पाप दूसरों के सिर मढ़ना चाह रही है। हालांकि, इस मामले का स्वत: संज्ञान लेते हुए उच्च न्यायालय ने तल्ख टिप्पणी की है और सीबीआई जांच की निगरानी भी खुद ही करने की बात कही है।” चौधरी ने कहा, ” इस मामले की जांच सर्वोच्च न्यायालय के वरिष्ठ न्यायाधीश से कराई जानी चाहिए, ताकि सच्चाई सामने आ सके।”

यह पूछे जाने पर कि योगी सरकार देवरिया कांड के लिए पिछली सरकारों को जिम्मेदार ठहरा रही है, उन्होंने कहा, “पिछली सरकारों के दौरान यदि ऐसा हुआ तो यह मामला उजागर क्यों नहीं हुआ। योगी सरकार के समय यह कारनामा उजागर हुआ है। अब सरकार इसकी जांच में जानबूझकर विपक्षी दलों को घसीटने का काम कर रही है।”

उन्होंने कहा कि देवरिया कांड तो महज एक बानगी है। पूरे उप्र में महिलाओं के भीतर भय व्याप्त है। कई अन्य जिलों में भी आश्रय गृहों से बालिकाओं के गायब होने की खबरें आ रही हैं। प्रतापगढ़ हो या हरदोई, हर जगह से बालिकाएं गायब हो रही हैं।

चौधरी ने कहा, “आखिर गायब हो रही बालिकाओं का पता क्यों नहीं लग पा रहा है। इन्हें कहां ले जाया जा रहा है। प्रतापगढ़ में भी कई बालिकाएं गायब हुई हैं। यहां तो आश्रय गृह की संचालिका पूर्व में भाजपा की जिलाध्यक्ष और पार्षद रह चुकी है। आखिर वो कौन लोग हैं जो लड़कियों को गायब करने का काम रहे हैं।”

देवरिया कांड को लेकर पार्टी की आगे की क्या रणनीति है, इस पर चौधरी ने कहा, ” देवरिया कांड को पार्टी ने संसद भी उठाया है। सांसद डिंपल यादव भी इस मामले को जोर-शोर से उठा चुकी हैं। विधानसभा के मानसून सत्र के दौरान पहले दिन ही इस मामले को जोरदार ढंग से उठाया जाएगा। सरकार अपनी जिम्मेदारी से बच नही सकती है।”

उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकार में शहीदों के सपने भी चकनाचूर होकर शीशे की तरह बिखर रहे हैं। आज महिलाएं सुरक्षित नहीं रह गईं हैं, चारों तरफ भय का वातावरण बना हुआ है। आवाज उठाने वालों के खिलाफ दमनात्मक रवैया अपनाया जा रहा है।

रामगोविंद ने कहा कि भय के इस माहौल को देखते हुए ही पार्टी की तरफ से प्रजातंत्र बचाओ, देश बचाओ, साइकिल यात्रा निकाली जा रही है। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने देवरिया कांड की जांच सीबीआई को सौंप दी है। इस बीच इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने एक जनहित याचिका पर संज्ञान लेते हुए सीबीआई जांच की निगरानी खुद ही करने की बात कही है।

Related Articles