21 किलो चांदी के झूले में विराजेंगे रामलला, भक्तों के लिए RTPCR रिपोर्ट अनिवार्य

रामनगरी अयोध्या में श्रवण झूला उत्सव में भगवान राम के लिए 21 किलो चांदी का झूला लगाया गया है, 13 अगस्त को भगवान झूले में विराजमान होंगे

लखनऊ: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के रामनगरी अयोध्या (Ayodhya) में श्रवण झूला उत्सव में भगवान राम के लिए 21 किलो चांदी का झूला लगाया गया है। अयोध्या में 11 अगस्त से झूला उत्सव की शुरूआत हो चुकी है। कोरोना महामारी की वजह से इस बार पहली जैसी रौनक नहीं है। 13 अगस्त को नागपंचमी (Nagpanchami) के दिन इस 21 किलो चांदी का झूले में रामलला को झूला झूलाया जाएगा। जिसका दर्शन भक्त झरोंखे से कर सकेंगे।

राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ने ट्वीट कर कहा कि श्रवण झूला उत्सव मनाने के लिए उत्तर प्रदेश के अयोध्या में भगवान राम के लिए 21 किलो चांदी का झूला लगाया गया है। रामलला सावन में शुरू होने वाले झूलन महोत्सव का आनंद लेंगे। ऐसा पहली बार हो रहा है कि भगवान राम के लिए चांदी का झूला खास तौर पर बनवाया गया है।

RTPCR रिपोर्ट अनिवार्य

कोरोना की वजह से झूला महोत्सव के कार्यक्रम को काफी सीमित रखा गया है। जिसके लिए अयोध्या में आने वाले सभी यात्रियों को अपने साथ RTPCR रिपोर्ट लाना अनिवार्य है। यह रिपोर्ट 72 घंटे पहले तक की होनी चाहिए।

भगवान विष्णु के सातवें अवतार

राम जन्मभूमि मंदिर (Ram Janmabhoomi Temple) उत्तर प्रदेश के अयोध्या में राम जन्मभूमि के पवित्र तीर्थ स्थल पर पुनः नए रूप में बनाया जा रहा है। राम जन्मभूमि राजा राम का जन्मस्थान है, जिन्हें भगवान विष्णु के सातवें अवतार के रूप में पूजा जाता है। मंदिर का निर्माण राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र द्वारा किया जाएगा। मंदिर को गुजरात के सोमपुरा परिवार द्वारा डिजाइन किया गया है।

भगवान विष्णु के एक अवतार माने जाने वाले राम एक व्यापक रूप से पूजे जाने वाले हिंदू देवता हैं। प्राचीन भारतीय महाकाव्य, रामायण के अनुसार, राम का जन्म अयोध्या में हुआ था। इसे राम जन्मभूमि या राम की जन्मभूमि के रूप में जाना जाता है। 15 वीं शताब्दी में मुगलों ने राम जन्मभूमि पर एक मस्जिद, बाबरी मस्जिद (Babri Masjid) का निर्माण किया। हिंदुओं का मानना है कि मस्जिद का निर्माण एक हिंदू मंदिर को खंडित करने के बाद किया गया था। यह 1850 के दशक में ही था जब विवाद हिंसक रूप में सामने आया था।

यह भी पढ़ेश्रीनगर में Kabaddi Premier League-2021 In Indoor Stadium की शुरूआत, मिलेगा बढ़ावा

(Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles