अदालत ने रामपाल को कर दिया बरी, लेकिन जेल से नहीं मिली राहत

0

आपको बता दें कि रामपाल पर आरोप है कि उन्होंने सत्यार्थ प्रकाश (आर्य समाज की किताब) के कुछ हिस्से पर आपत्ति जताई थी। इस वजह से रामपाल और आर्य समाज को मानने वाले कुछ लोगों में झड़प हो गई। आर्य समाज के लोगों ने रोहतक में मौजूद रामपाल के आश्रम को बंद करने की कोशिश की। फिर कथित रूप से रामपाल के समर्थकों ने गोलियां चला दी। जिसमें तीन लोगों की जान गई और 160 जख्मी हो गए। रामपाल पर इस पूरे मामले की साजिश रचने का आरोप है।

यह भी पढ़ें: राम रहीम के बाद आज एक और बाबा पर हिसार कोर्ट करेगी फैसला, धारा 144 लागू

 

loading...
1
2
3
शेयर करें