ढाई साल की दुधमुंही बच्ची से किया बलात्कार, कोर्ट ने सुनाया फैसला

लखनऊ: यूपी में बलात्कार के मामले एक बार फिर से बढ़ते ही जा रहे है। दरिंदो को तो मासूम बच्चियों पर यर्स नही आता है। इलाहबाद हाईकोर्ट ने ढाई साल की दुधमुंही बच्ची के दुष्कर्म के मामले में आरोपी प्रदीप प्रजापति को बुधवार को कोर्ट ने दोषी करार देते हुए 20 साल की सश्रम सजा सुनाई है। इसके अलावा 40 हजार रुपये का उस जुर्माना ठोंका है। विशेष जज बिलास प्रसाद ने बुधवार को सुनवाई करते हुए आरोपी को यह सजा सुनाई है। न्यायाधीश ने जुर्माने की धनराशि का 30 हजदार रुपया बतौर प्रतिकर पीडि़ता को देने का आदेश दिया है।

यह था मामला

27 जनवरी 2019 को इंस्पेक्टर आलमबाग अमरनाथ विश्वकर्मा ने मुकदमा दर्ज किया गया था। अम्बेडकर नगर शहर का निवासी एक मजदूर परिवार यहां आनंद नगर स्थित एक निर्माणाधीन इमारत में मजदूरी कर रहा था। 26 जनवरी 2019 की शाम प्रदीप प्रजापति ने मजदूर की बेटी के साथ दुष्कर्म किया था। वारदात के बाद वह फरार हो गया था। बच्ची की हालत बिगड़ गई थी।

इन धाराओं में मुकदमा दर्ज

उसके बाद बच्ची के पिता की तहरीर पर मजदूर के खिलाफ दुष्कर्म, पाक्सो एक्ट समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया था। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार करके उसे जेल भेज दिया गया था। पुलिस ने मामले में सारे पुख्ता साक्ष्य जुटाए थे। साक्ष्यों के आधार पर कोर्ट ने प्रदीप को दोषी करार देकर उसे सजा सुना दी।

Related Articles