पापा और भाइयों से कराया सहेली का रेप फिर छत से फेंका

rape-case2फतेहपुर। सहेली ने घर बुलाया। फिर सहेली के दो भाइयों और पिता ने बलात्कार किया। हवस खत्म होने पर उसे दूसरी मंजिल से फेंक दिया। इज्जत के साथ पूरा शरीर टूट गया। दो सप्ताह बाद होश आने पर उसने आपबीती बताई। चार माह से अधमरी पीड़िता को न्याय का इंतजार है। जबकि जिम्मेदार उसके मरने का इंतजार कर रहे हैं।

यह मामला फतेहपुर जनपद की बिंदकी कोतवाली के जहानपुर का है। एक इंटरमीडिएट की छात्रा, प्राइवेट कर्मी की बेटी 19 अगस्त को सामान लेने बाजार गई थी। इसी दौरान उसकी सहेली उर्मिला ने उसे अपने घर बुला लिया। सहेली ने उसे एक कमरे में बिठा दिया। फिर सहेली के दो भाई पवन, बउवन और पिता भगवान दास कमरे में पहुंच गए। फिर तीनो ने पीड़िता के साथ रेप किया। इसके बाद उसे दूसरी मंजिल से नीचे फेंक दिया।

पूरा शरीर टूट गया

नीचे गिरने से छात्रा के हाथ, पैर व सिर टूट गया । घटना की सूचना मिलते ही परिजनों ने पुलिस को जानकारी दी। पुलिस की मदद से उसे कानपुर के हैलट अस्पताल में भर्ती कराया गया था। दो सप्ताह बाद जब उसे होश आया तब उसने अपने साथ हुई दरिंदगी बताई।

इलाज ने पिता को बनाया कर्जदार

बुरी तरह से घायल बेटी के इलाज में पिता कर्जदार हो चुका है। घुटनों की कटोरी बदली जा चुकी हैं पिता ने बताया कि इलाज में वह अपना सब कुछ बेंच चुका है। रिश्तेदारों व दूसरों से कर्ज लेकर इलाज करा रहा है।

पुलिस की संवेदनहीनता

चार माह से अधिक बीत चुके हैं। पिता न्याय की गुहार लगाकर थक चुका है। पुलिस ने अभी तक पीड़िता का बयान तक नहीं लिया है। आरोप है कि कई बार उस पर मामला रफ दफा करने का दबाव पुलिस द्वारा डाला जा चुका है। इस मामले में फतेहपुर के पुलिस कप्तान का कहना है कि अभी तक मामला उनके संज्ञान में नहीं था। आरोपियों की गिरफ्तारी न होना गलत है। दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ कारवाही और आरोपियों को जल्द गिरफ्तार किया जायेगा।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button