केरल में तेजी से फैल रहा ‘ रैट फीवर’

0

इन दिनों केरल में लेप्टोस्पायरोसिस या रैट फीवर के खतरनाक वायरस का आतंक है, ये वहा तेजी से फैल रहा है बता दे कि इस वायरस से फैलने वाली बीमारी अलग-अलग समय पर दुनिया में तबाही मचा चुकी है। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी, पुणे ने तीन नमूनों में इस वायरस की मौजूदगी पाई है, ये वायरस संक्रामक तौर पर महामारी का रूप ले सकता है।बता दे कि केरल के ज्यादातर हिस्सों से बाढ़ का पानी उतरने के बाद अब वहां बुखार की परेशानी ने घर कर लिया है। इसके साथ ही इस बिमारी के कारण 29 अगस्त से अभी तक नौ लोग मारे गए हैं और 13,800 से ज्यादा लोगों ने अस्पतालों में विभिन्न बुखारों के लिए अपना इलाज कराया। इनमें से डेंगू के 11 मामले निकले जबकि 21 संदिग्ध मामले थे।

स्वास्थ्य सेवा निदेशालय के अनुसार, सोमवार को पलक्कड़ और कोझीकोड़ जिलों में लेप्टोस्पायरोसिस (रैट फीवर) के कारण सोमवार को दो व्यक्तियों की मौत हो गई। हालांकि यह बीमारी ज्यादातर एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक नहीं फैलती है और कुछ एंटीबॉयोटिक्स से इसका इलाज किया जा सकता है।वही दूसरी तरफ, केरल में टैबलेट के तौर पर प्रिवेंटिव मेडिसिन बांटी जा रही हैं, जिसे एक महीने तक सप्ताह में एक बार लेना होता है।

loading...
शेयर करें