रविशंकर ने दी चेतावनी, देश के कानूनों को Social Media प्लेटफार्म को मानना होगा

नई दिल्ली: सोशल मीडिया प्लेटफार्मों के दुरूपयोग से संबंधित मामलों को लेकर सरकार सख्त हो गई है। सरकार ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों को चुनौती देते हुए साफ शब्दों में कहा है कि इन कंपनियों को दोहरे मापदंड छोड़कर देश के संविधान और कानूनों को पूरी तरह से मानना होगा, नहीं तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने राज्यसभा में कहा कि सरकार सोशल मीडिया प्लेटफार्मों पर अभिव्यक्ति की आजादी का सम्मान करती है और यह भी मानती है कि इनसे लोगों का सशक्तिकरण होता है। लेकिन अगर इसका दुरूपयोग कर झूठी खबर फैलाई जाती है या हिंसा भडकाई जाती है या चुनावों को प्रभावित करने की कोशिश की जाती है तो सरकार कड़ी कार्रवाई करने से पीछे नहीं हटेगी।

कानून के हिसाब से काम करना होगा

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने Social Media प्लेटफॉर्मों को चेतावनी देते हुए कहा कि इन प्लेटफॉर्म को चलाने वाली कंपनियों को निष्पक्ष होकर और देश के कानून के हिसाब से काम करना होगा, नहीं तो इनके खिलाफ सख्त कदम उठाए जाएंगे। रविशंकर ने कहा कि अगर ये कंपनी दोहरे मापदंड अपनाती हैं और देश के कानून या संविधान को नहीं मानती हैं तो सरकार इनके खिलाफ कार्रवाई करने में पीछे नहीं हटेगी।

रविशंकर ने बताया कि हाल ही में कुछ पोस्ट को लेकर विवाद पैदा होने के संबंध में टि्वटर के अधिकारियों के सामने मामला उठाया है और इस बारे में बातचीत की जा रही है। इसके अलावा एक सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने बताया कि उनका मंत्रालय और सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय मिलकर इन प्लेटफार्म से संबंधित दिशा निर्देशों की समीक्षा कर रहे हैं और जल्द ही सभी कमियों को दूर कर लिया जाएगा।

यह भी पढ़ें: राज्यपाल Bhagat Singh Koshyari को सरकारी विमान से उतारा गया, जानिये क्यों?

Related Articles

Back to top button