मोदी राज में फिर जनता होगी बेहाल, अब इस वजह से एटीएम के बाहर फिर लगेंगी लाइनें!

नई दिल्ली। देखा जाए तो नोटबंदी के बाद से ही बैंकिंग इंडस्ट्री की तरफ से आम जनता के लिए काफी संकट रहा है। ऐसे में एकबार फिर नोटबंदी जैसे हालात होने का अनुमान लगाया जा रहा है। हाल ही में 100 रुपए के नए नोट आने के बाद आरबीआई ने एक फैसला सुनाया है, जिसके बाद से कहा जा रहा है कि एकबार फिर बैंकिंग सेक्टर में संकट मंडराने वाला है।

एटीएम

आरबीआई के मुताबिक इन नए नोटों को देने लायक बनाने के लिए देशभर के एटीएम को एकबार फिर से कैलिब्रेट करना होगा यानि एटीएम को नए नोटों के हिसाब से बदलना होगा। साथ ही लॉजिस्टिक्स फर्म्स और एटीएस सर्विस प्रोवाइडर्स ने भी चेतावनी देते हु्ए कहा है कि इस कैलिब्रेशन में कुछ ज्यादा समय लग सकता है।

साथ ही कैश लॉजिस्टिक्स फर्म्स और एटीएस सर्विस प्रोवाइडर्स ने सरकार और आरबीआई से यह भी आग्रह किया है कि पर्याप्त मात्रा में नोटों की सप्लाई की जाए, जिससे नकदी की कुछ ज्यादा दिक्कत न होने पाए।

यह भी पढ़ें: RBI जल्द जारी करेगा 100 रुपये का नया नोट, देखें डिजायन!

इस कैलिब्रेशन के बारे में एमडी लूनी एंटनी का कहना है कि, लगता है कि नए नोटों की कवायद में 100 करोड़ रुपए से ज्यादा खर्च होंगे। जिसके चलते देशभर के 2.4 लाख एटीएम को रिकैलिब्रेट करने में लगभग 12 महीने लग जाएंगे। जानकारी देते हुए उन्होंने कहा है कि अभी तक 200 रुपए का रिकैलिब्रेशन ही नहीं पूरा हो पाया है। ऐसे हालातों में 100 रुपए के नोट के लिए बहुत ज्यादा समय लग सकता है।

Related Articles