लाल किला हिंसा: ‘मैं अपनी गलती स्वीकार करूंगा, दीप सिद्धू ‘सिख’ नहीं हैं, वे BJP के कार्यकर्ता है’

ट्रैक्टर रैली को लेकर बीकेयू के नेता राकेश टिकैत ने कहा कि दीप सिद्धू सिख नहीं हैं, वे BJP के कार्यकर्ता हैं। PM के साथ उनकी फोटो है

नई दिल्ली: 26 जनवरी 2021 को जब पूरा देश गणतंत्र दिवस का राष्ट्रीय पर्व बड़े ही धूम-धाम के साथ मना रहा था। तब उसी दिन दिल्ली के लाल किले पर किसानों की ट्रैक्टर परेड से दिल दहला देने वाली हिंसा हो गई। अन्नदाता तो भोले-भाले होते हैं उपद्रवी करने वाले नहीं होते। सुप्रीम कोर्ट के नाक के नीचे लाल किले पर किसानों के भेस मे छुपे उपद्रवी लोगों ने हमारे देश के लोकतंत्र का सिर नीचा कर दिया है।

टिकैत का वायरल वीडियो

बीकेयू के नेता राकेश टिकैत ने वायरल वीडियो में कहा था, सरकार मान नहीं रही है ज्यादा कहनी पड़ रही है सरकार, अपना ले आइयो झंडा, झंडा भी लगाना, लाठी गोटी भी ले आइयो साथ, झंडा लगाने के लिए, समझ जाइयो सारी बात ठिक है, झंडा लगा… तिरंगा भी झंडा वैसा लगा दियो उस पे, अब आ जाओ झंडा लगाने के लिए, ले आओ ठिक है। जमीन बचाने के लिए आ जाओं अपनी जमीन नहीं बच रही।

वायरल वीडियो का जवाब

नेता बीकेयू राकेश टिकैत पर खड़े हुए सवाल वायरल वीडियो के जवाब में कहा कि “हमने कहा कि अपनी लाठी ले आओ। कृपया मुझे एक छड़ी के बिना एक झंडा दिखाएं, मैं अपनी गलती स्वीकार करूंगा”

राकेश टिकैत ने यह भी बोला कि ‘दीप सिद्धू सिख नहीं हैं, वे भाजपा के कार्यकर्ता हैं। पीएम के साथ उनकी एक तस्वीर है। यह किसानों का आंदोलन है और ऐसा ही रहेगा। कुछ लोगों को तुरंत इस जगह को छोड़ना होगा- जो लोग बैरिकेडिंग तोड़ चुके हैं वे कभी भी आंदोलन का हिस्सा नहीं होंगे’।

एक्शन में दिल्ली पुलिस

26 जनवरी (गणतंत्र दिवस) पर लाल किले पर हुई किसानों की हिंसा के बाद दिल्ली पुलिस सख्त हो गई है। दिल्ली में वीआईपी (VIP) इलाके लुटियंस जोन को जाने वाले रास्ते बंद हैं। इंडिया गेट, प्रगति मैदान और मंडी हाउस जाने वाले सभी रास्ते बंद हैं। आईटीओ और कनॉट प्लेस (Connaught Place) की ओर जाने वाले रास्ते भी बंद कर दिए गए हैं।

लाल किले हिंसा नें 150 से ज्यादा पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। 2 पुलिस कर्मी गंभीर रूप से घायल हैं जिन्हें ICU में भर्ती कराया गया है।

यह भी पढ़ेदिल्ली-एनसीआर के कई इलाकों में जनता परेशान, इंटरनेट सेवा बंद

दिल्ली मेट्रो बंद

दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (DMRC) ने ट्वीट करके कहा कि हिंसा को देखते हुए दिल्ली में मेट्रो स्टेशन के प्रवेश और निकास द्वार बंद कर दिए गए हैं। जामा मस्जिद मेट्रो स्टेशन के प्रवेश द्वार भी बंद हैं। इसके साथ ही इलाके में कुछ समय के लिए इंटरनेट को भी बंद कर दिया गया है। जिससे कि हिंसा को बढ़ावा ना मिले।

यह भी पढ़ेSunny Deol ने Deep Sidhu से संबंधों को किया खारिज, लोकसभा चुनाव में थे साथी

Related Articles

Back to top button