राष्ट्रपति के अभिभाषण में सरकार की उपलब्धियों का जिक्र लेकिन राममंदिर की नहीं कोई फिक्र

0

नई दिल्लीः गुरूवार को संसद के बजट सत्र के हंगामेदार रहने की आशा जताई जा रही है जहां सरकार एक तरफ लोकलुभावन घोषणाएं कर सकती है वहीं दूसरी तरफ विपक्ष राफेल विमान सौदे, किसानों से जुड़े विषयों समेत अनेक महत्वपूर्ण विषयों पर सरकार को घेरेगी। आपको बता दें कि संसद का यह अंतरिम बजट सत्र 31 जनवरी से 13 फरवरी तक चलेगा और यह वर्तमान सरकार के तहत संसद का अंतिम बजट सत्र होगा। आपको यह बता दें कि मोदी के मुख्य मुद्दे राममंदिर पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अभिभाषण में कोई जिक्र नहीं किया गया है।

बृहस्पतिवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने संसद के दोनों सदनों की संयुक्त बैठक को संबोधित करके मोदी सरकार के अंतरिम बजट की शुरूआत कर दी है। इसी क्रम में शुक्रवार को वित्त मंत्री पीयूष गोयल अंतरिम बजट पेश करेंगे और ऐसी उम्मीद की जा रही है कि सरकार इसमें समाज के विभिन्न वर्गो के कल्याण से जुड़ी अनेकों उपायों की घोषणा कर सकती है।

आपको बता दें कि अर्जुन सुबह सबसे पहले राम मेघवाल, नरेंद्र सिंह तोमर और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह संसद पहुंचे। और बजट सत्र की शुरुआत से पहले राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने संसद के दोनों सदनों को संबोधित किया। वहीं बजट सत्र से पहले पीएम मोदी ने कहा कि संसद की कार्यवाही को देश देख रहा है। और सांसदों को संसद के इस सत्र में एक सार्थक बहस करने की जरूरत है। हम सभी महत्वपूर्ण मुद्दों पर बहस आयोजित करने के लिए उत्सुक हैं।

दोनों सत्र को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि हमारा देश गांधी जी के सपनों के अनुरूप, नैतिकता पर आधारित समावेशी समाज का निर्माण कर रहा है। हमारा देश बाबा साहब डॉक्टर भीमराव आंबेडकर द्वारा संविधान में दिए गए सामाजिक और आर्थिक न्याय के आदर्शों के साथ आगे बढ़ रहा है।

संसद में सरकार की उपलब्धियों का ब्योरा पेश करते हुए राष्ट्रपति कोविंद ने कहा,  हमारे देश में साल 2014 तक सिर्फ 12 करोड़ गैस कनेक्शन थे। पिछले साढ़े चार वर्षों में मेरी सरकार ने कुल 13 करोड़ परिवारों को गैस कनेक्शन से जोड़ा है। उन्होने कहा कि सरकार हर व्यक्ति के जीवन में रोशनी लाने की कर रही कोशिश है। राष्ट्रपति ने कहा कि आयकर का बोझ घटाकर और महंगाई पर नियंत्रण करके, सरकार ने मध्यम वर्ग को बचत के नए अवसर प्रदान किए हैं।

राष्ट्रपति ने अपने अभिभाषण में कहा कि बीते शीतकालीन सत्र में संसद द्वारा संविधान का 103वां संशोधन पारित करके गरीबों को आरक्षण का लाभ पहुंचाने का ऐतिहासिक फैसला लिया गया है। वहीं प्रधानमंत्री मुद्रा योजना का लाभ महिलाओं को सबसे ज्यादा मिला है। अब तक देशभर में दिए गए 15 करोड़ मुद्रा लोन में से 73 प्रतिशत लोन महिला उद्यमियों ने प्राप्त किए हैं। सरकार ने 22 फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य को फसल की लागत का डेढ़ गुना से अधिक करने का ऐतिहासिक फैसला लिया है। और जनधन योजना की वजह से देश में 34 करोड़ खाते खुले है।

जहां वर्ष 2014 में एक जीबी डेटा की कीमत तकरीबन 250 रुपए थी, अब वह घटकर 10-12 रुपए हो गई है। कोविंद ने कहा कि बहुत जल्द ही देशवासियों को अब तक की सबसे तेज गति की ट्रेन वंदे भारत उपलब्ध कराई जाएगी। राष्ट्र कालेधन और भ्रष्टाचार के खिलाफ सरकार द्वारा चलाए जा रहे अभियान में नोटबंदी एक महत्वपूर्ण कदम था। इस फैसले ने कालेधन की समानांतर अर्थव्यवस्था पर प्रहार किया और वह धन, जो व्यवस्था से बाहर था, उसे देश की अर्थव्यवस्था से जोड़ा गया। पूर्वी भारत में 19 एयरपोर्ट्स विकसित किए जा रहे हैं। इसमें से 5 एयरपोर्ट पूर्वोत्तर राज्यों में बनाए जा रहे हैं।

अभिभाषण के अंत में संसद के दोनों सदनों को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि ‘नमामि गंगे मिशन’ के तहत अब तक 25 हजार 500 करोड़ रुपए की परियोजनाओं को स्वीकृति दी जा चुकी है।

 

loading...
शेयर करें