राहुल गांधी की पार्टी को नसीहत, ऐसे बयान न दें जिससे सपा-बसपा से रिश्ते खराब हों

0

लखनऊ:अध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी के प्रमुख नेताओं से मुलाकात कर उन्हें सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और बसपा सुप्रीमो मायावती के बारे में कोई भी अनर्गल बयान नहीं देने की नसीहत दी। उन्होंने कहा कि कोई ऐसा बयान न दें, जिससे रिश्ते खराब हों। माना जा रहा है कि लोकसभा चुनाव के बाद भाजपा के खिलाफ गठबंधन की संभावना को देखते हुए राहुल गांधी ने पार्टी पदाधिकारियों को यह फरमान दिया है। सूत्रों के मुताबिक, पार्टी मुख्यालय में राहुल ने कहा, मंच से अखिलेश और मायावती का सम्मान करने की जो बात उन्होंने कही, उसका पालन करें। लोकसभा चुनाव में किसी भी पार्टी को स्पष्ट बहुमत न मिलने पर इन दलों की भूमिका अहम हो सकती है।

अब यूपी में चलेगी बदलाव की आंधी 
मुख्यालय पर हुई सभा में राजबब्बर ने कहा कि यह उनके लिए गौरव की बात है कि प्रियंका वाड्रा ने अपनी सक्रिय राजनीति की शुरुआत यूपी से की है। अब यूपी में कांग्रेस के पक्ष में बदलाव की आंधी आएगी। हम किसी से पीछे नहीं रहेंगे।

बापू और बाबा साहेब की प्रतिमा पर किया माल्यार्पण
हजरतगंज में प्रियंका और राहुल का काफिला करीब आधे घंटे रुका। यहां उन्होंने महात्मा गांधी, बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर और सरदार पटेल की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। इसके बाद काफिला राजभवन, विक्रमादित्य चौराहा, वीवीआईपी, गेस्ट हाउस चौराहा, लाल बहादुर शास्त्री मार्ग होते हुए माल एवेन्यू में पार्टी मुख्यालय पहुंच गया। रोड शो में प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर, हरीश रावत, राजीव शुक्ला, जितिन प्रसाद, प्रमोद तिवारी, आरपीएन सिंह, अखिलेश प्रताप सिंह भी रथ पर मौजूद थे इसके अलावा विधायक लल्लू सिंह, महिला कांग्रेस अध्यक्ष सुष्मिता देव, दीपक सिंह, ललितेशपति त्रिपाठी, प्रदीप जैन, इमरान मसूद भी अन्य गाड़ियों पर सवार थे।

ज्योतिरादित्य ने किया ट्वीट-‘धन्यवाद लखनऊ’
रोड शो जब हजरतगंज पहुंचा, उसी वक्त ज्योतिरादित्य मोबाइल फोन की स्क्रीन देखने लगे। कुछ सेकेंड बाद उनका ट्वीट आया-अद्भुत, ऐतिहासिक, जनसमर्थन के लिए धन्यवाद लखनऊ। संकेत साफ है-सरकार जाने को है, बदलाव आने को है। ज्योतिरादित्य ने एक अन्य ट्वीट में कहा-हो चुका है आगाज परिवर्तन की लहर का। जन-जन के साथ विकास की नींव रखेंगे हम।

loading...
शेयर करें