देश में ऐसा पहली बार, रेप पीड़िता को 6 घंटे में मिला न्याय

0

उज्जैन : मध्य प्रदेश में 6 दिन पहले हुई रेप की घटना में 14 साल के आरोपी को चालान पेश होने के मात्र 6 घंटे में ही सजा सुना दी गई।

मामला उज्जैन के पास घट्टिया का है जहाँ 6 दिन पहले नाबालिग आरोपी ने चार साल की मासूम के साथ रेप की घटना को अंजाम दिया था, जिस पर से पुलिस ने नाबालिग आरोपी को राजस्थान से अरेस्ट किया था और उज्जैन पुलिस ने किशोर न्याय बोर्ड में उसे पेश किया था।

पुलिस के मुताबिक रेप के मामले में इतनी जल्दी फैसला आने का यह देश में पहला मामला है। घटना 6 दिन पहले की बताई जा रही है।

पूछताछ में ये बात सामने आई है की किशोर ने इस घटना को अपने ही घर में अंजाम दिया था, उसने बच्ची को किसी बहाने से अपने घर बुलाया और उसके साथ रेप किया। इसके बाद आरोपी युवक वहां से फरार हो गया ।
इसके बाद वो राजस्थान के चौमहला में अपने रिश्तेदार के यहां छिपा रहा लेकिन अगले ही दिन पुलिस टीम ने वहां पहुंचकर उसे पकड़ लिया।

एसपी सचिन अतुलकर ने बताया कि 24 घंटे में ही डीएनए रिपोर्ट मिल गई, जिसमें बच्ची से दुष्कर्म की पुष्टि हुई। इसके बाद सोमवार सुबह 11 बजे मालनवासा स्थित किशोर न्याय बोर्ड में चालान पेश किया गया। जज तृप्ति पांडे ने तत्काल सुनवाई शुरू की और गवाहों, अन्य सबूतों, मेडिकल और डीएनए रिपोर्ट के आधार पर बोर्ड ने किशोर को दोषी पाया। सोमवार को न्याय बोर्ड ने 14 साल के किशोर को उसकी इस हरकत के लिए 2 साल सिवनी के बाल संप्रेक्षण गृह भेजने का आदेश दे दिया।

loading...
शेयर करें