बीमारियों से चाहते हैं बचाव, तो घर में तुरंत करें ये बदलाव

नई दिल्ली। बीमारियों से बचाव के लिए लोग अपने खानपान के अलावा अन्य तरह की सावधानियां अपनाते हैं। आमतौर पर लोग बीमार होने पर डॉक्टरों की सलाह के अनुसार अपना इलाज कराते हैं। कभी-कभी ऐसा देखा गया है कि तनाव व इससे संबंधित अन्य बीमारियों का अच्छे से अच्छा इलाज कराने पर भी व्यक्ति को पूरी तरह फायदा नहीं मिलता है। अगर आपकी भी यही समस्या है, तो इसका समाधान वास्तुशास्त्र में छिपा हुआ है। आपके घर में मौजूद नकारात्मक ऊर्जा आपका स्वास्थ्य प्रभावित करती है। वास्तु के अनुसार आज हम आपको घर में कुछ ऐसे बदलाव करने के उपाय बताने जा रहे हैं, जिन्हें अपनाकर आप बीमारियों से सुरक्षित रह पाएंगे।

जानिए क्या हैं वो उपाय
घर में लगे जाले मानसिक तनाव को बढ़ाते है। इसीलिए आज ही अपने घर के जाले को हटा दें।

घर में सुबह की पूजा 6 से 8 बजे के बीच ही करें। पूजा करने के लिए ज़मीन पर ऊनी या सूती आसन बिछाएं।

सोफा ख़रीदते समय उसके रंग का ध्यान रखें। सोफासेट हल्के नीले रंग होने के कारण मानसिक शांति का आभास होता है।

यदि घर में नकारात्मकता का आभास हो तो शाम के समय घर में सुगंधित व पवित्र धुआं करें। जिसके घर का वातावरण सकारात्मक रहेगा।

आजकल बहुत से लोग बेडरूम में एल्कोहल का प्रयोग करते है, लेकिन उन्हें ये नहीं पता होता कि ऐसा करने से तनाव बढ़ता है। बेडरूम में एल्कोहल के इस्तेमाल से डरावने सपने आते हैं। साथ ही व्यक्ति को कई रोग जकड़ लेते हैं।

घर में चटकीले रंग करवाने से घर में नीरसता छा जाती है। इसलिए घर में हमेशा हल्के रंग ही करवाए। जिससे घर के सदस्यों के बीच खुश़नुमा माहौल बना रहें।

Related Articles