दृष्टिबाधित लोगों के लिए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने मोबाइल एप ‘मनी’ लॉन्च किया

नई दिल्लीः भारतीय रिज़र्व बैंक, RBI ने एक मोबाइल एप ‘मोबाइल एडेड नोट आइडेंटिफायर’ (मनी) लॉन्च किया है, जो दृष्टिबाधित लोगों को करेंसी नोटों के मूल्यवर्ग की पहचान करने  मदद करेगा| एंड्रॉयड और एप्पल दोनों प्रकार के ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए यह ऐप तैयार किया गया है। इसे प्लेस्टोर और आईओएस ऐप स्टोर से नि:शुल्क डाउनलोड किया जा सकता है। एक बार इंस्टाल करने के बाद ऐप के इस्तेमाल के लिए इंटरनेट कनेक्शन की जरूरत नहीं होगी।

केंद्रीय बैंक ने कहा कि आरबीआई ने महात्मा गांधी सीरीज और महात्मा गांधी (न्यू) सीरीज के बैंक नोटों में कई ऐसी विशेषताओं का समावेश किया है जिनसे दृष्टिबाधित व्यक्ति नोटों के मूल्य के बारे में पता कर सकता है। इनमें उभरी हुई छपाई, छूकर महसूस किए जा सकने वाले चिह्न, नोटों के आकार में अंतर आदि शामिल हैं।

इससे पहले सोशल मीडिया पर कई रिपोर्ट लीक हुई थी, जिनमें 2,000 रुपये के नोट बंद होने की जानकारी मिली थी। हालांकि, केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने इस तरह की खबरों को सिरे से खारिज किया था। उनका कहना है कि अब तक सरकार ने 2,000 रुपये के नोट को लेकर किसी तरह का प्रस्ताव पेश नहीं किया है।
आरबीआई का एप अपने यूजर्स को नोट की सटीक जानकारी देता है। इसके अलावा यूजर्स को इस एप में ऑडियो सेंसर का सपोर्ट मिलेगा, जिससे वह इसको अपनी आवाज से कंट्रोल कर सकेंगे। अगर नोट कही से मुड़ा है, तो भी यह एप उसकी आसानी से पहचान कर सकेगा। वहीं, मानी एप इंटैग्लियो प्रिंटिंग, टैक्सटाइल मार्क, साइज़, नंबर, रंग और मोनोक्रोमेटिक पैटर्न की आसानी से जांच करता है।

Related Articles