सेना का रिटायर्ड हवलदार निकला पाक जासूस, दबोचा गया

Jasoos

जयपुर/पोकरण। एटीएस ने सेना से रिटायर्ड एक हवलदार को जासूसी के आरोप में पोकरण से गिरफ्तार किया है। वर्तमान में रिटायर्ड हवलदार हल्का पटवारी है और पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी से पैसे लेकर देश के परमाणु विस्फोट स्‍थल की जानकारी देता था।

स्वीकारी गलती
रिटायर्ड हवलदार ने सैन्य ऑपरेशन व सामरिक जानकारियां भी सीमा पार भेजना स्वीकार किया है। इसकी एवज में उसे लाखों रुपए मिले हैं। उससे पूछताछ जारी है।

एटीएस के एडीजी का बयान
एटीएस के एडीजी डॉ. आलोक त्रिपाठी ने बताया कि गिरफ्तार आरोपित गोवर्धन सिंह (58) निवासी गांव गुड्डी, पोकरण सेना में हवलदार रह चुका है। वह वर्तमान में खेतोलाई हल्का का पटवारी है। रविवार दोपहर एटीएस के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शांतनु कुमार ने टीम के साथ गोवर्धन सिंह को हिरासत में लिया। बाद में पोकरण थाने में उससे पूछताछ की।

तलाशी में मले अहम दस्तावेज
एटीएस को गोवर्धन सिंह के फलसूंड रोड स्थित मकान की तलाशी में सेना की फील्ड फायरिंग रेंज के नक्शे और अन्य सामरिक जानकारियों के दस्तावेज मिले हैं। गोवर्धन की बैंक पासबुक देखने पर मालूम हुआ कि उसके बैंक खाते में किसी ने लाखों रुपए जमा कराए हैं।

बेटा एयरफोर्स में
गोवर्धन के चार बच्चे हैं। एक बेटा एयरफोर्स, जबकि अन्य तीन पढ़ाई कर रहे हैं। सेना में पकड़ के कारण उसे गुप्त सूचनाएं जुटाने में आसानी होती और हर ऑपरेशन की खबर रहती थी। पटवारी होने से कोई शक नहीं करता।

आरआई भी पकड़ा
जांच एजेंसियों की पूछताछ में गोवर्धन सिंह ने बताया कि पाक में जिस व्यक्ति को वह जानकारियां देता था, उसका नंबर भू-अभिलेख निरीक्षक (आरआई) ताराराम ने दिया था। ताराराम को भी हिरासत में लेकर पूछताछ जारी है।

मोबाइल पर देता था खबर
एटीएस के मुताबिक, गोवर्धन परमाणु परीक्षण संबंधी गतिविधियों की जानकारी आईएसआई को मोबाइल से भेजता था। उसके मोबाइल की कॉल डिटेल खंगाली जा रही है। कई और लोगों को भी राडार पर लिया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button