सेवानिवृत्त लेफ्टिनेंट जनरल सैयद अता हसनैन ने की शेरशाह की तारीफ़

मुंबई: पिछले हफ्ते जबसे शेरशाह का प्रीमियर हुआ है तबसे दर्शकों से फ़िल्म के टीमपर प्यार और प्रशंसा की बरसात हो रही है। आज, (सेवानिवृत्त) लेफ्टिनेंट जनरल सैयद अता हसनैन, जिन्होंने कश्मीर में भारतीय सेना के 15 सेना की कमान संभाली थी, उन्होंने शेरशाह की उसके विस्तृत रिसर्च तथा ऑथेंटिक स्थानों को कैप्चर करने से लेकर सेना की नैतिकता और व्यवहार को चित्रित करने तक सबकी प्रशंसा की।

अभिनेता सिद्धार्थ मल्होत्रा ​​के साथ एक लाइव चैट में, लेफ्टिनेंट जनरल ने कहा, “फिल्म में कश्मीर घाटी के जो दृश्य दिखाए गए हैं, वे बहुत प्रामाणिक हैं। मैंने अपना आधा जीवन वहां बिताया है, लेकिन मैंने कभी भी इस तरह के प्रामाणिक दृश्यों को कैप्चर होते नहीं देखा । फिल्म में सेना के अधिकारियों द्वारा अपने स्रोतों का खुलासा नहीं करने जैसी साधारण चीजें भी सामने आई हैं।”

उन्होंने आगे कहा, “कुछ दृश्य जो एक सैनिक के मानवीय पहलू को दिखाते हैं, उसे अच्छी तरह से कैमरा में कैद किया गया है”। मुझे उम्मीद है कि शेरशाह भविष्य में अन्य बॉलीवुड फिल्मों के लिए ‘सबसे बेहतरीन शोध की गई सेना की फिल्म’ ऐसे अपना बेंचमार्क स्थापित करेगी। सिद्धार्थ के अभिनय की सराहना करते हुए, उन्होंने अभिनेता से कहा कि, ‘मैं वास्तव में एक आर्मी ऑफिसर की यथार्थ भूमिका निभाने के लिए आपकी तारीफ करना चाहता हूं। मैंने पिछले कुछ वर्षों में सेना पर आधारित कई फिल्में देखी हैं, लेकिन कोई भी मुझे इतनी सही नहीं लगी।

Related Articles