खुलासा: इंस्पेक्टर ने की थी लेडी कांस्टेबल की हत्या, कार में घुमाता रहा छत-विक्षत शव

0

रायपुर: छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले में हुई महिला कान्सटेबल की हत्या मामले में पुलिस ने चौंकाने वाला खुलासा किया है। पुलिस जांच में सामने आया कि महिला सिपाही आरती कुंजाम का बेरहम हत्यारा कोई और नहीं बल्कि एक सब इंस्पेक्टर था। दोनों के बीच प्रेम सम्बंध थे। प्यार में हुए एक झगड़े ने हत्याकांड का रुप ले लिया। पुलिस ने बताया कि महिला सिपाही आरोपी सब इंस्पेक्टर को लगातार ब्लैकमेल कर रही थी। जिसके बाद प्रेमी दारोगा ने यह खौफनाक कदम उठाया।

क्या था पूरा मामला?

दरअसल, अंबागढ़ चौकी पुलिस में अनुविभागीय कार्यालय की रीडर आदिवासी महिला आरक्षक बीते 21 अगस्त को लापता हो गई थी। दो दिन बाद उसका शव डोंगरगांव के बगदई नदी में तैरती हुई मिली। महिला कान्सटेबल की लाश मिलने के बाद इलाके में हड़कंप मच गया था। जिसके बाद मामले की छानबीन में पुलिस जुट गई।

पुलिस ने किया  खुलासा

पुलिस ने इस घटना का खुलासा करते हुए जो बताया वह बेहद चौकाने वाला था। पुलिस के मुताबिक, अंबागढ़ चौकी में ही पहस्थ SI नापित ने 20 अगस्त को महिला कांस्टेबल आरती कुंजाम को कृषि कालेज के पास मिलने के लिए बुलाया। जहां दोनों के बीच विवाद शुरू हो गया। महिला आरक्षक ने नापित को धमकी देते हुए शादी से इनकार करने पर सोशल मीडिया पर तस्वीरें वायरल करने की धमकी दी और उसकी पत्नी को दोनों के संबंधों की जानकारी देने को धमकाया। महिला सिपाही ने कहा अगर वह उसकी बात नहीं मानता है तो पूरी घटना की जानकारी वो एसडीओपी और एसपी को भी दे देगी।

कार में घुमाता रहा था क्षत विक्षत शव

जांच में सामने आया कि झगड़े के बाद नाराज SI ने झपट्टे से  गला पकड़ लिया और दबा दिया, जिससे उसकी मौत हो गई। महिला कांस्टेबल का शव एसआई ने कार की डिक्की में डाला और उसे ठिकाने की जुगत भिड़ाने लगा। उसने पूरी रात शव को डिक्की में ही बंद रखा और उसके बाद अगले दिन 21 तारीख को सुनसान जगह ले जाकर दोनों हाथ और दोनों पांव काटकर फेंक दिये।

कई हिस्सो में कटा मिला था शरीर

महिला सिपाही का शव 23 अगस्त को बगनई नदी के पुल के पास छत-विक्षत हालत में मिला था। यह अंबागढ़ चौकी से करीब 37 किलोमीटर दूर है। परिजन शव मिलने की जानकारी तथा शंका होने पर पता करने के लिए पहुंचे थे, जहां उन्होंने शव को महिला आरक्षक आरती कुंजाम के रुप में पहचाना। महिला की हत्या बेहद क्रूरता से की गई है। उसके हाथ-पैर और सिर को काटकर नदी में फेंका गया है, जिससे की उसकी पहचान न हो सके। हालांकि पुलिस ने अभी पूरे मामले का सिलसिलेवार खुलासा नहीं किया है।

loading...
शेयर करें