क्रांतिकारी बटुकेश्वर दत्त का 110 वां जन्मदिन, जौनपुर में कार्यकर्ताओं ने दी श्रंद्धाजलि

क्रांतिकारी बटुकेश्वर दत्त के 110 वें जन्मदिन पर जौनपुर में कार्यकर्ताओं ने दी श्रंद्धाजलि

जौनपुर: उत्तर प्रदेश में जौनपुर के सरांवा गांव में स्थित शहीद लाल बहादुर गुप्त स्मारक पर हिन्दुस्तान सोशलिस्ट रिपब्लिकंन आर्मी और लक्ष्मीबाई ब्रिगेड के कार्यकर्ताओं ने अंग्रेजों के दांत खट्टे करने वाले महान क्रांतिकारी, स्वतन्त्रता संग्राम सेनानी बटुकेश्वर दत्त का 110 वां जन्मदिन मनाया।

स्मारक पर श्रंद्धाजलि अर्पित

स्वतन्त्रता संग्राम सेनानी बटुकेश्वर दत्त के जन्मदिन के अवसर पर जौनपुर में कार्यकर्ताओं ने शहीद स्मारक पर मोमबत्ती और अगरबत्ती जला कर उन्हें श्रंद्धाजलि दी।

क्रांतिकारी बटुकेश्वर दत्त का जन्म

शहीद स्मारक पर मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए लक्ष्मी बाई ब्रिगेड की अध्यक्ष मंजीत कौर ने कहा कि महान क्रांतिकारी बटुकेश्वर दत्त का जन्म 18 नवंबर 1910 को बंगाल के वर्धमान के औरी गांव में हुआ था। पिता गोष्ट बिहारी दत्त कानपुर में नौकरी करते थे। वही पीपीएन कॉलेज में स्नातक की डिग्री हासिल की।

प्रकाश जावड़ेकर का ट्वीट

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने महान क्रांतिकारी बटुकेश्वर दत्त की जयंती पर उन्हें कोटि-कोटि नमन किया।

चौदह साल की उम्र में क्रांतिकारियों से मुलाकात

अध्यक्ष मंजीत कौर ने कहा कि 1924 में मात्र चौदह साल की उम्र में चंद्रशेखर आजाद तथा भगत सिंह से इनकी मुलाकात हुई। इसके बाद वे हिंदुस्तान सोशलिस्ट रिपब्लिकन एसोसिएशन के लिए काम करने लगे। उन्होंने कहा सुखदेव और राजगुरु के साथ भी उन्होंने काम किया था।

लाहौर में बम धमाका

लाहौर में 8 अप्रैल 1929 को केंद्रीय असेंबली में बम धमाके के बाद वे भगत सिंह के साथ गिरफ्तार हुए। 1963 में बिहार विधान परिषद के सदस्य बने और 20 जुलाई 1965 को दिल्ली में उनका निधन हो गया।

यह भी पढ़े:आस्था का महापर्व छठ की धूम, यूपी में नहाय खाय के साथ पूजा की शुरूआत

यह भी पढ़े:क्रेब्स से नाराज ट्रम्प बोले ‘ट्रम्प टू बिडेन के रूप में वोटों का बदलाव’

Related Articles

Back to top button