जेल में ही नए साल का स्वागत करेंगे राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव

बता दें कि चारा घोटाला के पांच मामलों में से चार में लालू प्रसाद यादव को सजा मिल चुकी है। जबकि, डोरांडा कोषागार के एक मामले में निचली अदालत में सुनवाई अभी चल रही है।

रांची: बहुचर्चित चारा घोटाले के चार मामलों में सजायाफ्ता राष्ट्रीय जनता दल राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव की दुमका कोषागार से अवैध निकासी के एक अन्य मामले में जमानत पर झारखंड उच्च न्यायालय में सुनवाई छह सप्ताह के लिए टल गई है।

राजद प्रमुख लालू की जमानत याचिका की सुनवाई 6 सप्ताह टली

झारखंड उच्च न्यायालय के न्यायाधीश अपरेश सिंह की अदालत में शुक्रवार को लालू यादव के वकील ने बताया कि उनके मुवक्किल की सजा की अवधि अभी आधी हुई या नहीं, इसका रिकॉर्ड अभी पूरी तरह सत्यापित नहीं हो सका हैै। अदालत ने इसके बाद यादव के वकील के आग्रह पर सुनवाई छह सप्ताह के लिए टाल दी।

बता दें कि चारा घोटाला के पांच मामलों में से चार में लालू प्रसाद यादव को सजा मिल चुकी है। जबकि, डोरांडा कोषागार के एक मामले में निचली अदालत में सुनवाई अभी चल रही है। सजा पाए तीन मामलों में झारखंड उच्च न्यायालय ने लालू को आधी सजा काट लेने के आधार पर जमानत दी है। इसी आधार पर लालू यादव ने दुमका कोषागार से अवैध निकासी मामलेेे में जमानत के लिए याचिका दायर की है। इस मामले में जमानत मिलने पर यादव जेल से बाहर आ जाएंगे।

यह भी पढ़े: किसान आंदोलन में घुस आयी भारत विरोधी ताकतें अन्नदाताओं की छवि कर रही हैं धूमिल: सुशील

यह भी पढ़े: चीनी दूतावास के आरोप तथ्यात्मक रूप से गलत: विदेश मंत्रालय

Related Articles