राजद ने बिहार विधानसभा चुनाव में 150 सीटों पर ठोका दावा,बंटवारे के झमेले से भी पार्टी को किया बाहर

बिहार  में आगामी विधानसभा चुनावों को टाले जाने की मांग कर रहे महागठबंधन ने सीटों के बंटवारे पर भी चर्चा शुरू कर दी है. आरजेडी ने विधानसभा की 243 में से लगभग 150 सीटों पर दावा ठोक दिया है. बाकी बची 93 सीट कांग्रेस और जीतनराम मांझी व उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी के लिए छोड़ दिया है। इस तरह से राजद ने खुद को सीट बंटवारे के झमेले से भी बाहर कर लिया है.

कांग्रेस और राजद दोनों ही पार्टियाँ बढ़ाना चाहती हैं अपनी ताकत

पिछले  चुनाव में महागठबंधन में जेडीयू भी  शामिल थी.तब जेडीयू और आरजेडी सौ-सौ सीटों पर और कांग्रेस ने 40 पर चुनाव लड़ा था।पर अब नए राजनीतिक माहौल में कांग्रेस और राजद दोनों ही पार्टियाँ अपनी ताकात बढ़ने की जुगत में हैं .

बहुमत के लिए चाहिए 123 सीटें

राजद महागठबंधन में इस बार एक बड़ा हिस्सा चाहती है। इस बार के विधानसभा चुनावों में 150 सीटों पर दावा ठोकते समय राजद की नज़र में बहुमत के लिए जरूरी 123 सीटों का आंकड़ा जरूर रहा होगा. साथ ही सीट बंटवारे के झमेले से भी पार्टी को बाहर कर लिया. बाकी बची सीटों को सहयोगी दलों के लिए छोड़ दिया है.

कांग्रेस करना चाहती है स्थिति मजबूत

कांग्रेस भी तीन दशक के बाद बिहार में अपनी जड़ें मजबूत करना चाहती है , इसलिए वह अधिक से अधिक सीटों पर चुनाव लड़ने की कोशिस करेगी।आधिकारिक रूप से  कांग्रेस ने अभी तक कोई बात नहीं की है,पर उसे बाकी की 93 सीटों में उसे मांझी और कुशवाहा को ठीक ठाक हिस्सा देना होगा. कांग्रेस के नेतावों का मानना है की सीट बंटवारा बड़ा मामला नहीं है.चुनाव की घोसणा के बाद आपस में मिल बैठ के तय कर लेंगे.

Related Articles