डकैतों ने मरीज बनकर प्राइवेट अस्पताल में की लूटपाट, तीन गिरफ्तार

पटना। बिहार में लगातार अपराध थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस बार एक डकैती का मामला प्रकाश में आया है। ताजा मामला राजधानी पटना से सटे दानापुर क्षेत्र का है, जहां एक निजी नर्सिंग होम में मरीज बनकर आए डकैतों ने चिकित्सक के घर में जमकर लूटपाट की। इस दौरान चिकित्सक की बेटी ने हिम्मत दिखाते हुए पुलिस को सूचना देकर तीन डकैतों को गिरफ्तार करवाया।

पुलिस द्वारा मिली जानकारी के मुताबिक दानापुर के रूपसपुर थाना क्षेत्र में सोमवार की देर रात डॉ़ हेमंत कुमार झा के निजी नर्सिंग होम में आठ-दस की संख्या में आए डकैतों ने धावा बोल दिया और वहां कंपाउंडर के साथ मारपीट कर चिकित्सक के आवासीय परिसर का दरवाजा तोड़कर घुस गए। डकैतों ने चिकित्सक की बेटी निधि झा के कमरे में घुस कर हथियार के बल पर उसे कब्जे में ले लिया और फिर डरा-धमकाकर पूरे परिवार को बंधक बना लिया।

डकैत इस दौरान घर में लूटपाट करते रहे। इसी बीच निधि ने हिम्मत दिखाई और पालतू कुत्ते को बांधने के बहाने वह डकैतों के चंगुल से छूटकर किसी तरह नर्सिंग होम पहुंच गई और फोन से पुलिस अधीक्षक को इसकी सूचना दे दी। पुलिस बिना समय गंवाए घटनास्थल पर पहुंच गई। घटनास्थल से ही पुलिस ने भाग रहे तीन डकैतों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के एक अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि डकैत 60 हजार रुपये नकद और सात लाख के जेवरात समेत कीमती सामान साथ ले गए हैं।

गिरफ्तार डकैतों से पूछताछ की जा रही है जबकि अन्य भागे डकैतों की गिरफ्तारी को लेकर छापेमारी जारी है। गिरफ्तार डकैतों के पास से चार मोबाइल फोन, चाकू, नकद रुपए समेत कई सामान बरामद किए गए हैं।निधि ने बताया कि उनके लिए उस समय सबकी जान बचाना ही सबसे जरूरी था। संयोग से उस समय फोन भी मिल गया। उन्होंने पुलिस को धन्यवाद देते हुए कहा कि वे समय पर आ गए और सबकी जान बच गई और डकैत भी गिरफ्तार हो गए।

Related Articles