रोहित शर्मा ने शिखर धवन को बताया ‘बेवकूफ’, ओपनिंग जोड़ी को लेकर किए कई खुलासे

नई दिल्ली: भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा और शिखर धवन की ओपनिंग जोड़ी दुनिया की सबसे खतरनाक सलामी जोड़ियों में शामिल है। धवन और रोहित ने 107 पारियों में मिलकर 4802 रन वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट में जोड़े हैं। इस तरह ये दुनिया की चौथी सबसे ज्यादा रन बनाने वाली जोड़ी है। दोनों ही बल्लेबाजों ने अपनी टीम के लिए दर्जनों मैच जिताऊ पारियां खेली हैं। अच्छी शुरुआत देकर यही दो बल्लेबाज भारतीय टीम की जीत की नींव रखते है, लेकिन इन दोनों की सलामी जोड़ी की शुरुआत बड़े खराब तरीके से हुई थी।

दाएं हाथ के बल्लेबाज रोहित शर्मा ने ऑस्ट्रेलियाई ओपनर डेविड वार्नर से इंस्टाग्राम पर लाइव चैट करते हुए 2013 चैंपियंस ट्रॉफी के एक मजेदार वाकये को सार्वजनिक किया है। इसी आइसीसी टूर्नामेंट के दौरान भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने रोहित शर्मा को ओपनर के तौर पर प्रमोट किया था। डेविड वार्नर और शिखर धवन ने सनराइजर्स हैदराबाद के लिए ओपनिंग की है। इसी बात को लेकर वार्नर ने रोहित शर्मा से पूछा है क्या धवन ने तुमसे भी पहली गेंद खेलने यानी स्ट्राइक लेने की बात को बोला है।

इसके जवाब में रोहित शर्मा ने शिखर को बेवकूफ करार दिया है। रोहित शर्मा ने कहा है, “वह एक दम बेवकूफ है, मैं क्या कह सकता हूं। वह पहली गेंद का सामना करना पसंद नहीं करता है। वह स्पिनर्स को खेलना चाहता है, लेकिन वे तेज गेंदबाजों के खिलाफ खेलना उतना ज्यादा पसंद नहीं करता है। मुझे वो दिन याद है जब 2013 में मैं पहली बार सीमित ओवरों में पारी की शुरुआत करने के लिए उतरा था। मुझे याद है कि चैंपियंस ट्रॉफी में बतौर ओपनर ये मेरी दूसरी पारी थी। वह साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेल रहे थे। मोर्ने मोर्केल और डेल स्टेन जैसे गेंदबाजों के खिलाफ मैदान पर थे। मैंने कभी उन्हें नई गेंद के साथ नहीं खेला था। इसलिए मैंने शिखर को बोला कि तुम स्ट्राइक लो।”

“लेकिन, उसने कहा नहीं रोहित नहीं। आप थोड़ा खेल चुके हैं। यह मेरा पहला ओवर है। मैं नहीं कर सकता। तुमको स्ट्राइक लेनी है। मैंने कहा जो बंदा लगाकार ओपनिंग कर रहा है वो स्ट्राइक नहीं लेना चाह रहा, क्यों? इसलिए मैंने स्ट्राइक ली और पहली कुछ गेंदें मोर्केल ने की। यहां तक मुझे गेंद दिखी ही नहीं। मैं उछाल की उम्मीद नहीं कर रहा था, मैं इसके लिए तैयार नहीं थै। मुझे नहीं पता था कि नई गेंद कैसी होगी, वह भी इंग्लैंड की सतह पर। जहां तक मुझे याद है, मैं उस दिन भी पूरी तरह से बोल्ड हो गया था।”

रोहित शर्मा ने ये भी कहा है कि ये मेरा पहला अनुभव शिखर के साथ था, लेकिन अब हम एक दूसरे के साथ घुल-मिल गए हैं। 33 साल के हिटमैन ने ये भी कहा है कि कई बार धवन तुमको बोर भी कर सकते हैं। उन्होंने कहा है, “कभी-कभी, वह बहुत परेशान भी कर देता है। बीच में, मैं योजना बनाता हूं कि यह गेंदबाज ऐसा कर रहा है, इसलिए हम ऐसा करेंगे। पांच सेकंड बाद, वह जाएगा, ‘ठीक है, फिर कहेगा कि आपने क्या कहा। आप खेल के बीच में बहुत दबाव में हैं, और यह आदमी इन सभी चीजों को कहता है, यह आपको निराश करता है। आपको पता नहीं है कि कैसे प्रतिक्रिया करनी है।”

Related Articles