एशिया-प्रशांत में एंट्री करेगी रॉयल आस्ट्रेलियाई नौसेना, चीन को काउंटर करने की रणनीति

आस्ट्रेलिया की नौसेना ने मध्य-पूर्व से एशिया-प्रशांत में स्थानांतरित करने का एलान किया है।

नई दिल्लीः हिंद महासागर सहित दक्षिण चीन सागर में चीन के बढ़ते वर्चस्व को रोकने के लिए आस्ट्रेलिया की नौसेना ने मध्य-पूर्व से एशिया-प्रशांत में स्थानांतरित करने का एलान किया है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार आस्ट्रेलिया के रक्षा मंत्री लिंडा रेनॉल्ड्स ने इस बारे में जानकारी साझा करते हुए कहा कि, इस साल रॉयल आस्ट्रेलियाई नौसेना ने जंगलों में लगी आग और कोविड-19 संकट के दौरान देश की काफी मदद की। इसके अलावा, नौसेना ने पूरे दक्षिण-पूर्व एशिया और प्रशांत क्षेत्र में पांच-जहाजों की तैनाती और हमारे क्षेत्रीय भागीदारों के साथ कई अत्यधिक सफल गतिविधियां को भी सफलतापूर्वक अंजाम दिया है।

लिंडा ने कहा कि, ऑस्ट्रेलियाई रक्षा बल मध्य पूर्व में अपनी नौसैनिक उपस्थिति को कम करने के साथ ही एशिया-प्रशांत में अपनी गतिविधियों को तेज करने के लिए तैयार है। ताकि हमारे क्षेत्र में अधिक संसाधनों को तैनात किया जा सके। इस बदलाव को आस्ट्रेलियाई सरकार के हालिया डिफेंस स्ट्रैटेजिक अपडेट में हरी झंडी दिखा दी गई है।

गौरतलब है कि आस्ट्रलिया की सरकार ने इस बारे में एलान करते हुए कहा कि, बिगड़ती रणनीतिक परिस्थितियों के मद्देनजर अब सेना को भारत-प्रशांत और ऑस्ट्रेलिया के तत्काल क्षेत्र पर अधिक ध्यान केंद्रित करना होगा।

आपको बता दें इसके पहले क्षेत्र में आस्ट्रलिया की भागीदारी पर महर लगाते हुए भारत, जापान और अमेरिका ने उसे मालाबार अभ्यास में शिरकत करने की घोषणा की थी।

Related Articles

Back to top button