कम्युनिस्ट नेता के हत्यारों की खबर देने वालों को लाखों का इनाम देगी महाराष्ट्र सरकार

0

कोल्हापुर। महाराष्ट्र सरकार ने वयोवृद्ध कम्युनिस्ट नेता और सामाजिक कार्यकर्ता गोविंद पनसारे की हत्या के मामले में दो लापता बंदूकधारियों के बारे में सूचना देने पर बुधवार को 10 लाख रुपये इनाम राशि की घोषणा की। कोल्हापुर रेंज के आईजीपी विश्वास नांगरे-पाटिल ने कहा कि विनय पवार और सारंग दिलीप अकोलकर ने 16 फरवरी, 2015 की सुबह शहर में पनसारे और उनकी पत्नी पर गोलियों की बौछार कर दी थी।

सरकार

दोनों के खिलाफ गैर-जमानती वारंट भी जारी किया है

हमले में घायल हुए पनसारे (81) का 20 फरवरी को निधन हो गया, जबकि उमा इस हमले में बच गईं। पुलिस ने इनाम की घोषणा के अलावा दोनों के खिलाफ गैर-जमानती वारंट भी जारी किया है। दोनों हमलावर हमले के बाद से फरार हैं। नांगरे-पाटिल ने कहा कि उमा ने दोनों हमलावरों की तस्वीरें पहचान ली हैं। इसके अलावा मामले में एक अन्य प्रमुख आरोपी समीर गायकवाड़ हिरासत में हैं। वह उनसे नियमित संपर्क में था।

पांच लाख रुपये के इनाम की घोषणा की थी

एक प्रत्यक्षदर्शी ने कहा कि सांगली का रहने वाला पवार और पुणे जिला के अकोलकर ने कोल्हापुर में एक दुकान से रिवॉल्वर खरीदी थी। इससे पहले केंद्रीय जांच ब्यूरो ने दोनों के बारे में सूचना देने पर पांच लाख रुपये के इनाम की घोषणा की थी। पुलिस ने इससे पहले इस मामले में दक्षिण पंथी समूह सनातन संस्था के कार्यकर्ताओं गायकवाड़ और वीरेंद्र तावड़े को गिरफ्तार किया था।

loading...
शेयर करें