RSS से जुड़े किसान संगठन 8 सितंबर को कृषि कानूनों के खिलाफ देशव्यापी देंगे धरना

नई दिल्ली: RSS से जुड़े भारतीय किसान संघ (BKS) ने 8 सितंबर को देशव्यापी धरना देने का फैसला किया है क्योंकि केंद्र 31 अगस्त तक तीन नए कृषि कानूनों और एमएसपी की मांगों पर विचार करने के अपने “अल्टीमेटम” पर कार्रवाई करने में विफल रहा है।

BKS ने कहा कि फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) लागत के आधार पर तय किया जाना चाहिए और नए कृषि कानूनों से उत्पन्न विवाद को हल करने के लिए किसानों द्वारा उठाई गई चिंताओं को ध्यान में रखते हुए एक नया कानून तैयार किया जाना चाहिए।

BKS के कोषाध्यक्ष युगल किशोर मिश्रा ने बुधवार को यहां संवाददाताओं से कहा, इन मांगों को लेकर 8 सितंबर को देशव्यापी सांकेतिक धरना आयोजित किया जाएगा। मोदी सरकार को मांगों पर कार्रवाई के लिए 31 अगस्त तक का समय दिया गया था। सरकार की ओर से कोई सकारात्मक संकेत नहीं मिलने के कारण हम 8 सितंबर को धरना देंगे।

उन्होंने कहा कि किसानों की दुर्दशा के बारे में लोगों को बताने के लिए सभी जिला मुख्यालयों पर दिन में प्रेस कॉन्फ्रेंस की जाएगी। उन्होंने कहा, हम 8 सितंबर के बाद आगे की कार्रवाई तय करेंगे। मिश्रा ने कहा, “किसानों को उनकी उपज का लाभकारी मूल्य नहीं मिलता है। MSP लाभकारी नहीं है।”

यह भी पढ़ें: ममता सरकार ने गठित किया SIT, जांच में मदद के लिए 10 IPS अधिकारियों की नियुक्ति

Related Articles