RSS राहुल गांधी को भेज सकता कार्यक्रम का न्योता

नई दिल्ली : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आरएसएस की तुलना मुस्लिम ब्रदरहुड से की थी इसका जवाब देने के लिए संघ ने उन्हें अपने कार्यक्रम में शामिल होने के लिए न्योता भेज सकता है।

सूत्रों की मानें तो 17 से 19 सितंबर के बीच होने वाले कार्यकर्म में आरएसएस कई बड़े नेताओं विपक्षी नेताओं को न्योता दे सकती है।

जर्मनी के बाद ब्रिटेन के दौरे पर पहुंचे राहुल गांधी ने शुक्रवार को यहां के प्रसिद्ध लंदन स्कूल ऑफ इकनॉमिक्स में भारतीय समुदाय के छात्रों से बातचीत करते हुए 2019 के चुनाव को बीजेपी-आरएसएस बनाम पूरे विपक्ष की लड़ाई बताया था।

राहुल ने कहा था कि भारत में ऐसा पहली बार हो रहा है जब संस्थाओं पर कब्जा करने की कोशिश की जा रही है। इतना ही नहीं राहुल गाँधी कई बार आरएसएस पर हमला बोल चुके हैं।

बताया जा रहा है कि आरएसएस अपने कार्यक्रम में हर फील्ड के शीर्ष लोगों को बुलाएगी, जिसमें पॉलिटिकल और मीडिया के भी कई चेहरे शामिल होंगे। वहीं, जब मुस्लिम ब्रदरहुड वाले बयान पर संघ के प्रचार प्रमुख अरुण कुमार से बातचीत की गई तो उन्होंने कहा, ‘जो अभी भारत को नहीं समझा वह संघ को नहीं समझ सकता, जानकारी के अभाव में वह ऐसी तुलना कर रहे हैं।’

ये भी पढ़ें…..मोदी के क्षमताओं और इरादों पर भरोसा करते हैं अनुपम खेर

सूत्रों की मानें तो, आरएसएस कार्यक्रम में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी को न्योता दे सकती है। हालाँकि इस बारे में आधिकारिक तौर पर साफ नहीं किया गया है।

Related Articles