आरएसएस के दिग्गज नेता ने कहा-बीफ खाना बंद हो जाए तो नहीं होंगी हत्याएं

रांची: आजकल देशभर में मॉब लिंचिंग की वजह से हंगामा मचा हुआ है। विपक्ष इस मुद्दे को लेकर मोदी सरकार पर हमलावर है। इसी बीच आरएसएस यानी राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ के बड़े नेता और मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के मार्गदर्शक ने एक विवादित बयान दिया है। झारखंड के रांची में इंद्रेश कुमार ने मॉब लिचिंग यानी भीड़ के कहर पर कहा है कि अगर लोग बीफ खाना बंद कर दे हिंसा भी बंद हो जाएगी।

इंद्रेश कुमार

इंद्रेश कुमाने कहा कहा कि मॉब में हिंसा कहीं भी चाहे वो आपको घर की, मोहल्ले की, जाति की, पार्टी की हो, वो कभी भी स्वागत योग्य नहीं है। अगर गाय का वध रुक जाता है तो हिंसा रुक जाएगी। दुनिया के किसी भी धर्म में गाय को मारने की अनुमति नहीं दी गई है। न ही उनके धर्मस्थलों गायों का वध होता है।

उन्होंने कहा कि ईशा इस धरती पर गोशाला में आए। इसलिए वहां गाय को मां बोलते हैं। मक्का मदीना में गाय का वध अपराध मानते हैं। क्या हम संकल्प नहीं कर सकते कि इस विचारधारा और मानवता को इस पाप से मुक्त करें। अगर गाय का वध रुक जाता है तो हिंसा रुक जाएगी। संघ नेता ने कानून और सरकार की भूमिका को भी स्पष्ट किया।

आगे उन्होंने कहा कि कानून को अपना काम करना चाहिए और सरकार को अपनी जिम्मेदारी अवश्य निभानी चाहिए। साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि समाज को भी संस्कारों को अपनाने की जरुरत है, जिससे इस तरह की समस्याओं से निपटा जा सके। ये सारी बातें इंद्रेस कुमार ने झारखंड में हिंदू जागरण मंच की इकाई के कार्यालय का उद्धाटन करने के दौरान कही ।

आपको बता दें कि भीड़ हिंसा की ताजा वारदात अलवर की है। यहां  गाय तस्करी के संदेह में भीड़ ने रकबर नाम के एक व्यक्ति की पीट पीटकर हत्या कर दी थी।

Related Articles