IPL
IPL

RT-PCR की रिपोर्ट नेगेटिव वाले रहें सावधान! अगर मिले लक्षण तो माना जाएगा…

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में कोरोना का कहर इतना तेज है कि रोज मरीजो की संख्या बढ़ती जा रही है। कोरोना के बढ़ते मरीज और लगातार आरटी-पीसीआर (RT-PCR) टेस्ट नेगेटिव रिपोर्ट आने के बाद भी कई ऐसे मरीज है जिनमे कोरोना संक्रमण के लक्षण पाए जाते है। इसी को ध्यान में रखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने बड़ा फैसला लिया है।

योगी सरकार का कहना है कि अब अगर किसी व्यक्ति का आरटी-पीसीआर टेस्ट (RT-PCR) नेगेटिव आती है और उसके बाद भी कोरोना होने की आशंका है लगती है तो उसका कोरोना मरीज की तरह ही उपचार किया जाएगा और उसे प्रिजम्‍टिव कोविड की कैटेगरी में रखा जाए।

ये भी पढ़ें: कोरोना पर चुप्पी तोड़ FORMER PM ने खत लिख मोदी सरकार को सुझाए यह कदम

निगेटिव आने के बाद इसकी कराए जांच

आदेश के मुताबिक, आरटी-पीसीआर टेस्ट नेगेटिव होने के बाद भी अगर मरीज का एक्सरे, सीटी स्कैन, खून की जांच, सिम्टम्स कोरोना जैसे हों, साथ ही डॉक्टर का मानना हो कि ये कोविड है तो मरीज को हर हाल में इस कैटेगरी में रखा जाए।

ये भी पढ़ें: Covid 19 in India : कोरोना संक्रमण दर हुआ दोगुना, कौन है ये 9 राज्य जहा एक भी मरीज की नहीं गई जान

यूपी में मिले इतने मरीज

इधर, सूबे में कोरोना के आंकड़े रोज बढ़ रहे है। अब पिछले 24 घंटे में 30,594 नए कोरोना संक्रमित सामने आ रहे हैं। वहीं 129 लोगों ने संक्रमण के चलते दम तोड़ दिया है। उल्लेखनीय है कि प्रदेश में 1,91,457 कुल सक्रिय मामले हो गए हैं और अब तक करोना से 9830 लोगों ने दम तोड़ दिया है।

Related Articles

Back to top button