ड्राइविंग लाइसेंस के लिए अब RTO के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे, ये कंपनियां भी बनाएंगी DL

नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने ड्राइविंग लाइसेंस (DL) बनाने को लेकर बड़ा ऐलान किया है। अब कार कंपनियां ऑटोमोबाइल एसोसिएशन (Automobile association) और एनजीओ (NGO) को भी ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर खोलने की इजाजत होगी। ये संस्थान अपने सेंटरों में ट्रेनिंग पास कर चुके लोगों को ड्राइविंग लाइसेंस जारी भी कर सकेंगे। अब लर्निंग लाइसेंस के लिए आपको परिवहन विभाग के दफ्तरों के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। हालांकि, गाड़ियों के पंजीयन (RC) के लिए अभी आपको आरटीओ ही जाना पड़ेगा। केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने इस बारे में नोटिस जारी कर दिया है। हालांकि, रीजनल ट्रांसपोर्ट ऑफिस (RTO) पहले की तरह ही ड्राइविंग लाइसेंस जारी करते रहेंगे।

DL को लेकर केंद्र सरकार का बड़ा ऐलान

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के नोटिस के मुताबिक, अब कार बनाने वाली कंपनियां, ऑटो मोबाइल एसोसिएशन और एनजीओ को भी ड्राइविंग लाइसेंस के ट्रेनिंग स्कूल खोलने की इजाजत होगी।अब ये कंपनियां ड्राइविंग टेस्ट पास कर चुके लोगों को ड्राइविंग लाइसेंस जारी कर सकेंगे।

केंद्र सरकार ड्राइविंग लाइसेंस को लेकर बदलाव

कोरोना काल के बाद से देश कई राज्यों की परिवहन विभाग ने लर्निंग लाइसेंस के लिए फीस जमा करने की व्यवस्था में बदलाव कर दिया है। अब नई व्यवस्था के तहत स्लॉट बुक होते ही लर्निंग लाइसेंस के लिए पैसे जमा करना पड़ रहा है। इसके बाद जांच परीक्षा की तारीख भी अपनी सुविधा के मुताबिक मिल रहा है। केंद्र सरकार ड्राइविंग लाइसेंस से जुड़ी सेवाओं के लिए बीच बीच में जरूरी दिशा निर्देश जारी करता है। खासकर हाल के दिनों में यूपी, बिहार, मध्य प्रदेश, राजस्थान, उत्तराखंड, दिल्ली-एनसीआर और झारखंड जैसे राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों में लर्निंग लाइसेंस और गाड़ियों के पंजीयन के लिए नए नियमों को लागू किया है।

Related Articles