Lok Sabha में हंगामा, PM मोदी बोले- दलित, महिला सांसद को मंत्री नहीं देखना चाहता विपक्ष

लोकसभा में हंगामा पर प्रधानमंत्री मोदी बोले- दलित, आदिवासी, महिला सांसद को मंत्री बना देख विपक्ष को रास नहीं आया

नई दिल्ली: दिल्ली (Delhi) संसद में मानसूत्र सत्र (Monsoon Session) शुरू हो गया है। जिसके पहले दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) लोकसभा में नए मंत्रियों का परिचय देने के लिए जैसे ही सदन में खड़ें हुए विपक्षीय सदस्य हंगामा करने लगे। जिसके बाद पीएम मोदी ने कहा मैं सोच रहा था कि आज सदन में उत्साह का वातावरण होगा क्योंकि बहुत बड़ी संख्या में हमारी महिला सांसद, दलित भाई, ​आदिवासी, किसान परिवार से सांसदों को मंत्री परिषद में मौका मिला। उनका परिचय करने का आनंद होता।

लेकिन शायद देश के दलित, महिला, ओबीसी,​ किसानों के बेटे मंत्री बनें ये बात कुछ लोगों को रास नहीं आती है। इसलिए उनका परिचय तक नहीं होने देते। उन्होंने कहा ये कौन सी मानसिकता है जो दलितों, आदिवासियों, किसान के बेटे का गौरव करने को तैयार नहीं है? इस प्रकार की मानसिकता पहली बार सदन ने देखी है।

आज जब देश के किसान परिवार के बच्चे मंत्री बनकर सदन में उनका परिचय हो रहा है तो कुछ लोगों को बड़ी पीड़ा हो रही है। आज इस सदन में मंत्री बनी महिलाओं का परिचय हो रहा है तो वो कौन सी महिला विरोधी मानसिकता है जिसके कारण सदन में उनका नाम सुनने को भी तैयार नहीं हैं।

बाहुबली लोग

सदन में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा मैं आशा करता हूं कि आप सबको वैक्सीन की कम से कम एक डोज लग गई होगी। वैक्सीन बाहु पर लगती है और जब वैक्सीन बाहु पर लगती है तो आप बाहुबली बन जाते हैं। अब तक 40 करोड़ से ज्यादा लोग कोरोना के खिलाफ लड़ाई में बाहुबली बन चुके हैं।  इस महामारी ने पूरे विश्व को अपनी चपेट में लिया हुआ है इसलिए हम चाहते हैं कि संसद में भी इस महामारी के संबंध में सार्थक चर्चा हो। सभी व्यावहारिक सुझाव सभी सांसदों से मिलें ताकि महामारी के खिलाफ लड़ाई में नयापन आ सके और कमियों को भी ठीक किया जा सकता है।

उन्होंने बोला कि मैंने सदन के सभी नेताओं से आग्रह किया है कि अगर कल शाम को वो समय निकालें तो मैं महामारी के संबंध में सारी विस्तृत जानकारी उनको देना चाहता हूं। हम सदन के अंदर और सदन के बाहर भी चर्चा चाहते हैं।

यह भी पढ़ेMangal Pandey Birth Anniversary: आज ही के दिन मंगल पांडे ने किया था अंग्रेजों के विरुद्ध विद्रोह

(Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles