प्राचीन हनुमान मंदिर तोड़ने पर बवाल, AAP ने कहा BJP ने मंदिर को भी नहीं छोड़ा

दिल्ली के चांदनी चौक ( Chandni chowk ) इलाके में आज रविवार को पुनर्विकास योजना के तहत उत्‍तरी दिल्‍ली नगर निगम (NDMC) ने सैकड़ों साल पुराना हनुमान मंदिर तोड़ दिया है।

नई दिल्ली: दिल्ली के चांदनी चौक ( Chandni chowk ) इलाके में आज रविवार को पुनर्विकास योजना के तहत उत्‍तरी दिल्‍ली नगर निगम ( NDMC ) ने सैकड़ों साल पुराना हनुमान मंदिर ( Hanuman Temple ) तोड़ दिया है। नगर निगम की इस कार्रवाई के बाद से सत्ताधारी आम आदमी पार्टी ( AAP ) और भारतीय जनता पार्टी ( BJP ) के बीच घमासान शुरू हो गया है। आप ( AAP ) ने आरोप लगाते हुए कहा है कि भाजपा इतनी गिरी हुई राजनीति कर रही है कि दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश का हवाला देकर प्राचीन हनुमान मंदिर को तोड़ दिया है।

आम आदमी पार्टी ( AAP ) के प्रवक्ता राघव चड्ढा ने इस संदर्भ में ट्वीट कर कहा है कि बीजेपी की उत्‍तरी दिल्‍ली नगर निगम ने चांदनी चौक में बने प्राचीन बजरंग बली का मंदिर तोड़ दिया है। भ्रष्टाचार के नशे में चूर भाजपा की MCD ने प्रभु श्री राम के परम भक्त हनुमान जी के मंदिर को भी नहीं छोड़ा। पैसा लेके लोगों के अवैध लेंटर डलवाने देते हैं लेकिन प्रभु का मंदिर तोड़ देते हैं। भगवान माफ नहीं करेंगे।

मंदिर तोड़ने के लिए एमसीडी ने हस्ताक्षर भी किया है

आप नेता दुर्गेश पाठक ने कहा कि ‘कोर्ट में उनका हलफनामा पढ़ लीजिए। कोर्ट में एमसीडी ने हलफनामा लिख कर दिया है कि हम मंदिर तोड़ने को तैयार हैं और उसमें एमसीडी ने हस्ताक्षर भी किया है जो उसमे है। घटनास्‍थल पर सुबह से आम आदमी पार्टी के लोग बारिश में धरने पर बैठे हुए हैं। भाजपा ने वहां पर पुलिस लगा रखी है और वहां पर किसी को जाने नहीं दे रहे हैं।

ये भी पढ़ें : Farmer Strike: नंबरदार ने कहा ‘गडकरी कहते हैं कानून अच्छे हैं’

उधर आप प्रवक्ता आतिशी ने ट्वीट किया कि बीजेपी की MCD ने चांदनी चौक का प्राचीन हनुमान मंदिर शनिवार रात को तोड़ दिया। शायद बजरंग बली ने भाजपा के पार्षदों को रिश्वत का पैसा नहीं दिया, इसलिए उनका मंदिर ना बच पाया!

ये भी पढ़ें : यूपी(UP) में कोरोना का रिकवरी दर बढ़ी, संक्रमितों की संख्या भी घटी

हनुमान मंदिर का होगा पुनर्निर्माण

बीजेपी प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने आरोप लगाते हुए कहा है कि दिल्ली सरकार की धार्मिक कमेटी ने सिखों के दो धर्मिक स्थलों को तोड़ने की अनुमति दी थी लेकिन हनुमान मंदिर के मामले पर नहीं सोचा था और आज मंदिर टूट गया, जिसके बाद से लाखों करोड़ों लोगो की भावनाऐं आहत हुई हैं। इसलिए अब दिल्ली सरकार फिर से हनुमान मंदिर का पुनर्निर्माण करवा कर लोक भावनाओं का सम्मान करे। मंदिर वहीं दो गज दूरी पर मोती बाजार के सामने सेंट्रल वज्र पर बना कर मूर्तियों की पुनः स्थापना करेंगे या फिर घंटा घर चौक पर हनुमान मंदिर बनवाया जाये।

 

 

 

Related Articles

Back to top button