एशियाई खेलों में अपने खिताब की रक्षा के लिए तैयार रुपिंदर पाल सिंह

नई दिल्ली: भारत के दिग्गज ड्रैग फ्लिकर रुपिंदर पाल सिंह ने मंगलवार को कहा कि उनकी टीम एशियाई खेलों में अपने खिताब की रक्षा के लिए तैयार है। रुपिंदर ने कहा कि भारतीय पुरुष हॉकी टीम कुछ चीजों पर काम कर रही है, ताकि एशियाई खेलों की तैयारी में कोई कमी न रह जाए।q

एशियाई खेलों के 18वें संस्करण का आयोजन 18 अगस्त से जकार्ता में होना है। भारत ने 2014 में दक्षिण कोरिया के इंचियोन में हुए 17वें एशियाई खेलों में पाकिस्तान को हराकर स्वर्ण पदक जीता था।

उन्होंने कहा, “एक सप्ताह का ब्रेक हमें फिर से तरोताजा होने में मदद करेगा। हम में से कई 28 अप्रैल से ही राष्ट्रीय शिविर में हैं। ब्रेक के बाद राष्ट्रीय शिविर में वापसी पर हम सभी एक साथ बैठेंगे और न्यूजीलैंड के खिलाफ हाल ही में खेली गई सीरीज के मैच देखेंगे।”

रुपिंदर ने कहा, “इन मैचों को देखकर हम अपने खेल में सुधार के तरीके खोजेंगे। हम एशियाई खेलों में अपने खिताब की रक्षा के लिए उत्सुक हैं।”

भारतीय हॉकी खिलाड़ी रुपिंदर का मानना है कि राष्ट्रमंडल खेलों में रजत पदक जीतने वाली न्यूजीलैंड जैसी टीम के खिलाफ खेलना बेहद महत्व रखता है।

एफआईएच चैम्पियंस ट्रॉफी से बाहर रहे रुपिंदर का मानना है कि उन्हें एशियाई खेलों से पहले अपनी लय को तलाशना होगा। पिछली बार उन्होंने राष्ट्रमंडल खेलों में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व किया था।

मांसपेशियों में खिंचाव की समस्या के कारण चैम्पियंस ट्रॉफी के लिए उन्हें भारतीय टीम में जगह नहीं मिली थी। रीहेब से वापसी के बाद रुपिंदर अब एशियाई खेलों के लिए तैयार हैं।

Related Articles