रूस ने कराया समझौता, आर्मेनिया-अजरबैजान शवों की अदला-बदली पर हुए तैयार

अजरबैजान के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि विवादित क्षेत्र में छह सप्ताह के संघर्ष को समाप्त करने के लिए मंगलवार को आर्मेनिया, अजरबैजान और रूस के नेताओं द्वारा हस्ताक्षरित एक संयुक्त घोषणा के अनुसार मानवीय कार्रवाई हुई।

बाकू: रूस की मध्यस्थता के बाद आर्मेनिया और अजरबैजान नागोर्नो-करबख क्षेत्र में संघर्ष के दौरान मारे गये सैनिकों के शवों की अदला-बदली करने के लिए तैयार हो गए हैं। अजरबैजान के रक्षा मंत्रालय ने शनिवार को यह जानकारी दी।

मंत्रालय ने कहा,“अजरबैजान के नागोर्नो-कराबाख क्षेत्र में तैनात रूसी शांति सेना की मध्यस्थता और भागीदारी के माध्यम से शुशा शहर के आसपास युद्ध के मैदान में मारे गए कई सैनिकों के शवों को बरामद किया गया था। इस मानवीय कार्रवाई के हिस्से के रूप में आर्मेनियाई सशस्त्र बलों के मारे गए सैनिकों के शव आर्मेनियाई पक्ष को सौंप दिए गए थे। इसके अलावा शुजा शहर के आसपास संघर्ष के दौरान मारे गए अजरबैजान सेना के छह सैनिकों के शव प्राप्त हुए थे।”

मंत्रालय ने कहा कि विवादित क्षेत्र में छह सप्ताह के संघर्ष को समाप्त करने के लिए मंगलवार को आर्मेनिया, अजरबैजान और रूस के नेताओं द्वारा हस्ताक्षरित एक संयुक्त घोषणा के अनुसार मानवीय कार्रवाई हुई। शांति समझौते में युद्ध विराम, कैदियों की अदला-बदली और रूसी शांति सैनिकों की तैनाती पर भी सहमति व्यक्त की गई। 

ये  भी पढ़ें : गृह राज्य में दो दिन CM योगी, कपाट बंद होने से पहले बाबा केदारनाथ की करेंगे विशेष पूजा

Related Articles

Back to top button