पार्किंसन से पीड़ित हैं रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, जल्द दे सकते हैं इस्तीफा

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के पार्किंसन रोग से पीड़ित होने के दावों के चलते जल्द इस्तीफा देने के कयास लगाए जा रहे हैं।

मास्कोः रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के पार्किंसन रोग से पीड़ित होने के दावों के चलते जल्द इस्तीफा देने के कयास लगाए जा रहे हैं।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पुतिन की गर्लफ्रेंड जिमनास्‍ट अलीना कबाइवा और उनकी दो बेटियों ने पुतिन से इस्तीफा देने की अपील की है। वहीं पुतिन के पार्किंसन जैसी गंभीर बिमारी से जझने के कयास लगाए जा रहे हैं।

मास्को के राजनीतिक विश्लेषक वलेरी सोलोवेई के अनुसार, ‘रूसी राष्‍ट्रपति की गर्लफ्रेंड और उनकी दो बेटियां पुतिन को इस्‍तीफा देने के लिए जोर डाल रही हैं। पुतिन का एक परिवार है और उसका रूसी राष्‍ट्रपति पर गहरा प्रभाव है। ऐसे में मुमकिन है कि पुतिन जनवरी में सत्‍ता किसी और को सौंप सकते हैं।’

क्या है पार्किंसन रोग

पार्किंसन एक मनोवैज्ञानिक रोग है, जिसमें दिमाग का एक हिस्सा क्षतिग्रस्त हो जाता है। इस दौरान शरीर में कंपकपी, शरीर अकड़ना और ब्रैडीकाइनेशिया (शारीरीक गतिविधियां धीमी होना) जैसे लक्षण आम हो जाते हैं।

हालांकि पार्किंसन रोग जानलेवा नहीं होता है लेकिन इसके कारण अवसाद, दिन में उनींदापन, डिस्फेजिया (खाना निगलने में कठिनाई) जैसी चीजें आम हो जाती हैं।

विधेयक लाने की तैयारी में पुतिन

मीडिया रिपोर्ट अनुसार रूसी राष्ट्रपति संसद में एक नया विधेयक पेश किया था। जिसके तहत जिंदा रहने तक उन्‍हें कानूनी कार्रवाई से छूट रहेगी और राज्‍य की ओर से उन्‍हें सभी सुविधाएं मिलती रहेंगी। इस विधेयक के पेश होने के बाद से ही कई जानकार इसे रूस में सत्ता हस्तांतरण के रूप में देख रहे हैं।

Related Articles

Back to top button