साथ निभाना साथिया, नवदम्पति ने की आत्महत्या, एक चिता पर दोनों का अंतिम संस्कार

एटा: यूपी के एटा जिले में कोतवाली देहात इलाके के दुल्हापुर गांव में नवदंपति ने जहर खाकर अपने जीवन लीला को समाप्त कर दी है। जब इसकी खबर महिला के घरों को लगी तो ससुराल पहुंचे तो देखा दोनों को मृत्यु हो गई। नाराजगी के बीच दोनों पक्षो में किसी तरह से समझौते की बैग हुई। दोनों पक्षों में समझौता होने के बाद पुलिस को सूचना दिए बिना मृतकों का अंतिम संस्कार कर दिया गया।

जानकारी के मुताबिक, बीते 29 अप्रैल को देहात कोतवाली के गांव दूल्हापुर निवासी विकास की शादी रेखा पुत्री वीरेंद्र सिंह निवासी अन्नियां थाना व जिला कासगंज के साथ हुई थी। बीते शनिवार की रात को दोनों के बीच किसी बात को लेकर बहस हो गई। झगड़ा होने के बाद सबसे पहले पत्नी ने जहर खा लिया और बेहोश होकर गुर पड़ी, विकास ने जब उसको हिलाया तो कोई हरकत न होने पर उसके होश उड़ गए और बेकाबू होकर पति ने भी कीटनाशक का सेवन कर रात में ही दम तोड़ दिया। परिजनों को जानकारी नहीं हुई।

दोनों पक्षो में समझौता

रविवार सुबह दोनों के न उठने पर देखा कि उनके मुंह से झाग निकल रहा और मृत्यु हो गई। इसकी खबर लगते ही युवती के मायके वालों को सूचना दी गई। इसके बाद गांव में पंचायत हुई। समझौतानामा ग्राम प्रधान के लेटरपैड पर लिखा गया, इस पर दोनों पक्षों के हस्ताक्षर किए गए।

नहीं मिली सूचना

प्रभारी निरीक्षक जगदीश चंद्र ने बताया कि गांव दूल्हापुर में नवदंपती द्वारा आत्महत्या करने की थाने पर कोई सूचना नहीं मिली है। अगर कोई शिकायत आती है तो कार्रवाई की जाएगी।

एक चिता पर दोनों का अंतिम संस्कार

एक ही चिता पर किया गया दोनों का अंतिम संस्कार
ग्रामीणों में चर्चा है कि मौत का कारण चाहे जो भी रहा हो, लेकिन दोनों में काफी प्रेम था। मायके वालों की रजामंदी के बाद ग्रामीणों ने एक ही चिता पर नवदंपती का अंतिम संस्कार कर दिया।

 

Related Articles