सभाजीत सिंह ने कहा- योगी सरकार किसानों की नही बल्कि पूंजीपतियों की सरकार है

उत्तर प्रदेश में आम आदमी पार्टी (आप) अध्यक्ष सभाजीत सिंह ने आरोप लगाया कि धान खरीद के मामले में योगी सरकार के दावे और वादे खोखले साबित हुये है।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में आम आदमी पार्टी (आप) अध्यक्ष सभाजीत सिंह ने आरोप लगाया कि धान खरीद के मामले में योगी सरकार के दावे और वादे खोखले साबित हुये है। सभाजीत सिंह ने बुधवार को पत्रकारों से कहा कि योगी सरकार किसानों की नही बल्कि पूंजीपतियों की सरकार है। किसानों की हालत का इससे अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि साल 2017 से गन्ने के मूल्य में एक रुपये की भी वृद्धि नही हुई|

उन्होंने कहा की हाल ही में हुई गन्ना किसानों, मिल मालिकों और सरकार की बैठक में किसानो ने यह मांग फिर से की उनको 400 रुपए प्रति क्विंटल का दाम मिले, पर उसको भी अनसुना कर दिया गया। जहाँ एक तरफ मिल मालिकों ने यह दाम देने में अपनी असमर्थता जताई वही सरकार ने फिर एक बार विचार करने की बात कह अपना पल्ला झाड़ लिया।

ये भी पढ़े : सारण में एक लाख 40 हजार रुपये की लूट, एक गिरफ्तार, दूसरा हुआ फरार

आप नेता ने गन्ना किसानों की 400 रुपये प्रति क्विन्टल की मांग का समर्थन करते हुए कहा कि जब से योगी सरकार आयी है तबसे किसानों की स्थिति खराब होती जा रही है यही कारण है कि किसान आत्महत्या करने को मजबूर हो रहे है। नवम्बर में चीनी मिलो में पेराई सत्र शुरू होने के कारण किसानों को गन्ना खरीद पर्ची जारी होने लगी मतलब नई खरीद पर्ची भी आ गयी लेकिन पुराने बकाये का भुगतान नही हुआ।

ये भी पढ़े : बीएमसी पहुंचे सीएम योगी, लखनऊ नगर निगम के बॉन्ड की हुई लिस्टिंग

गन्ने का मूल्य फूटी कौड़ी भी नही बढा

उन्होंने कहा की विडम्बना ये है कि चीनी उत्पादन के मामले में उत्तर प्रदेश देश में सबसे आगे है। प्रदेश में 50 लाख से अधिक किसान परिवार गन्ने की खेती से जुड़े हुए हैं। प्रदेश में चीनी का उद्योग करीब चालीस हजार करोड़ का है, इस के बावजूद साल 2017 से गन्ने का मूल्य फूटी कौड़ी भी नही बढा। सभाजीत सिंह ने कहा कि जिस अन्नदाता में बीजेपी को आंतकवादी दिखता है कभी वो उसकी पीड़ा देखने की कोशिश करे। इसी सूबे में अपनी फसल लिए दर दर भटक रहा है किसान पर न उसकी फसल खरीदी जा रही है न उसकी सुनी जा रही है।

Related Articles