सुप्रीम कोर्ट जाने की तैयारी में सचिन पायलट, स्पीकर के नोटिस को देंगे चुनौती

0

जयपुर: राजस्थान का सियासी संकट खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है. अपनी ही सरकार के खिलाफ बगावत करने वाले सचिन पायलट को कांग्रेस ने उप मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष के पद से हटा दिया था. इसके बाद राजस्थान कांग्रेस के चीफ व्हिप महेश जोशी की शिकायत पर स्पीकर सीपी जोशी ने सचिन पायलट और उनके बागी विधायकों के खिलाफ नोटिस जारी किया था. अब सचिन पायलट इस नोटिस के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाने की तैयारी में हैं.

विधायक दल की बैठक में शामिल नहीं हुए थे सचिन पायलट और उनके गुट के विधायक

बता दें कि अशोक गहलोत सरकार ने दो दिन लगातार विधायक दल की बैठक बुलाई थी. इस बैठक के लिए बकायदा व्हिप भी जारी किया गया था. इसके बावजूद सचिन और उनके साथ हरियाणा के मानेसर में ठहरे उनके गुट के विधायकों ने बैठक में हिस्सा नहीं लिया. इसके बाद कांग्रेस के चीफ व्हिप महेश जोशी ने स्पीकर सीपी जोशी से शिकायत की और बागी विधायकों की सदस्यता खत्म करने की मांग की. इस पर स्पीकर सीपी जोशी ने सचिन पायलट समेत सभी बागी विधायकों को नोटिस जारी किया और उनसे 17 जुलाई की दोपहर 1 बजे तक जवाब मांगा है. जवाब मिलने के बाद स्पीकर आगे की कार्रवाई करेंगे. नोटिस पर सचिन पायलट गुट का कहना है कि हमने व्हिप का उल्लंघन नहीं किया है.

इन विधायकों के भेजा गया नोटिस

यह नोटिस सचिन पायलट, रमेश मीणा, इंद्राज गुर्जर, गजराज खटाना, राकेश पारीक, मुरारी मीणा, पी. आर. मीणा, सुरेश मोदी, भंवर लाल शर्मा, वेदप्रकाश सोलंकी, मुकेश भाकर, रामनिवास गावड़िया, हरीश मीणा, बृजेन्द्र ओला, हेमाराम चौधरी, विश्वेन्द्र सिंह, अमर सिंह, दीपेंद्र सिंह और गजेंद्र शक्तावत को भेजा गया है.

loading...
शेयर करें