IPL
IPL

महाराष्ट्र विधानसभा में ‘ये सरकार खूनी हैं’ के लगे नारे, जाने क्या है मामला

मुंबई : महाराष्ट्र (Maharashtra) में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के विधायकों ने मंगलवार को विधानसभा में ‘ये सरकार खूनी हैं’ का नारा बुलंद किया और मनसुख हीरेन (Mansukh Hiren) की मौत के आरोप में मुंबई के पुलिस अधिकारी सचिन वझे (Sachin Vaze) की गिरफ्तारी की मांग की, जो इस घटना की जांच के प्राथमिक अधिकारी थे।

सहायक पुलिस निरीक्षक सचिन वझे (Sachin Vaze) वर्तमान में (Sachin Vaze) खुफिया अपराध इकाई (ATS) में सेवारत हैं और जांच की शुरुआत में एंटीलिया बम मामले में जांच अधिकारी थे, इससे पहले कि उन्हें एसीपी-स्तर के एक अधिकारी द्वारा बदल दिया गया था। महाराष्ट्र विधानसभा में हंगामा होने के बाद कांग्रेस विधायक नाना पटोले ने विपक्षी विधायकों के खिलाफ COVID-19 दिशानिर्देशों के उल्लंघन का हवाला देते हुए कार्रवाई की मांग की।

मनसुख हिरेन की मौत के मामले में हंगामे के कारण सदन तीन बार स्थगित करना पड़ा। फडणवीस ने कहा कि साल 2017 में एक एक्सटॉर्शन की एफआईआर दर्ज की गई थी। जिसमें से एक आरोपी खुद सचिन वझे भी थे। उन्होंने मांग कि सचिन वझे को गिरफ्तार किया जाए उनके खिलाफ कई सबूत है।

इसे भी पढ़े; बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे को लेकर सीएम योगी ने किया बड़ा ऐलान

बता दें कि मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) के घर के पास विस्फोटक से लदी मिली स्कार्पियो के मालिक मनसुख हिरेन की लाश ठाणे के एक नाली से मिली थी। मनसुख की पत्नी ने सचिन वझे पर उनके हत्या का आरोप लगाया है। जिसको लेकर महाराष्ट्र विधानसभा (Maharashtra Legislative Assembly) में मंगलवार को जोरदार हंगामा हुआ।

Related Articles

Back to top button