सचिन वाझे 6 नवंबर तक crime branch की हिरासत में रहेंगे : कोर्ट

मुंबई : पुलिस से सस्पेंड अधिकारी सचिन वाझे को फिरौती के एक मामले में आज एक अदालत में पेश किया गया। crime branch ने मामले में वाझे की 10 दिन की रिमांड मांगी थी। कोर्ट ने मांग पर विचार करते हुए सचिन वाझे को 6 नवंबर तक के लिए हिरासत में भेज दिया है।

crime branch ने मामले में वाझे की 10 दिन की रिमांड मांगी थी।

सचिन वाझे ने मुंबई हाई कोर्ट में एक याचिका दायर कर तलोजा जेल से निकाल कर नजरबंद करने के अस्थायी ट्रांसफर की मांग की थी। राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने वाझे को नजरबंद करके रखने का विरोध किया है। एनआईए ने अदालत में आशंका व्यक्त की है कि अगर वाझे को नजरबंद किया गया तो वे भाग सकते हैं और मामले में गवाहों के संबंध छेड़छाड़ कर सकते हैं।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक हाई कोर्ट में दाखिल हलफनामे में एनआईए ने कहा था कि सचिन वाझे पर व्यवसायी मनसुख हिरेन की हत्या की साजिश रचने और उद्योगपति मुकेश अंबानी के आवास के पास विस्फोटक से लदी कार रखने समेत गंभीर अपराध करने का आरोप है, इसलिए उन्हें नजरबंद करके रखने की अनुमति न दी जाये।

एनआईए ने कहा कि अगर इन को नजरबंद किया जाता है, तो यह गवाहों और सबूतों के साथ छेड़छाड़ करेगा जो कथित तौर पर उसके साथी हैं। वाझे के लिए यह पता लगाना मुश्किल नहीं है कि इस मामले में गवाह कौन हैं। एनआईए ने कहा है कि फिलहाल गवाहों की पहचान और पते सुरक्षित रखे गए हैं। लेकिन वाझे के पास मुंबई क्षेत्र के बारे में सारी जानकारी है और वह एक प्रभावशाली व्यक्ति है।

यह भी पढ़ें : एसबीआइ फॉर्मर चीफ Pratip Chaudhuri धोखाधड़ी मामले में गिरफ्तार

Related Articles