साध्वी प्रज्ञा पर भारी उनकी ही विवादित वाणी, देखना पड़ा FIR का मुंह

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर आजकल बड़े चर्चे में. उनकी ज़ुबान ही ऐसी है कि उनके चर्चे हर ज़ुबान पर है. बता दे की प्रज्ञा ठाकुर मध्यप्रदेश के भोपाल से कांग्रेस के चाणक्य के खिलाफ चुनाव मैदान में उतर चुकी है.

बाबरी मस्जिद पर बयान देकर साध्वी जी ने अपनी मुश्किलें और बढ़ा ली है. भोपाल के कमलानगर थाने में धारा 188 के तहत टीटी नगर एसडीएम ने मामला दर्ज कराया है.  इसमें 1 महीने की सजा या 200 रुपये का अर्थदंड या दोनों एक साथ का प्रावधान है.

क्या है बाबरी मस्जिद और साध्वी प्रज्ञा का नाता

बाबरी मस्जिद में दिए विवादित बयान के मामले में जिला निर्वाचन अधिकारी ने प्रज्ञा ठाकुर को नोटिस थामा दी थी जसके जवाब में सधी का कहना था कि “मैंने किसी जाति, धर्म, समुदाय और भाषा इत्यादि के बीच उन्माद या धार्मिक भावनाओं को आहत करने अथवा ठेस पहुंचाने के उद्देश्य से बयान नहीं दिया था बल्कि मेरे द्वारा दिए गए बयान मेरी स्वयं की अंतरात्मा की आवाज को व्यक्त करता है”.

लेकिन प्रज्ञा ठाकुर जिला निर्वाचन अधिकारी को अपने जवाब से सहमत करने में असमर्थ रही.भोपाल जिला निर्वाचन अधिकारी ने साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के इस जवाब को संतोषजनक न मानते हुए अस्वीकार कर दिया है. भारत निर्वाचन आयोग द्वारा निर्धारित आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन किए जाने पर प्रज्ञा सिंह ठाकुर पर दंडात्मक प्रकरण दर्ज करने को कहा है. निर्वाचन अधिकारी ने स्पष्ट किया है कि साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर का बयान भारत निर्वाचन आयोग के आदर्श आचार संहिता के अध्याय 4 का उल्लंघन है.

मंगलवार को भरेंगी नामांकन साध्वी प्रज्ञा

प्रज्ञा ठाकुर अपना नामांकन मंगलवार को दाखिल करेंगी. वह नामांकन दाखिल करने से पहले 11 बजे भवानी चौक मंदिर में पूजा-अर्चना करेंगी. यहां से रैली के साथ जिला निर्वाचन कार्यालय पहुंचेंगी. इस रैली में पार्टी के प्रदेश प्रभारी डॉ. विनय सहस्रबुद्धे, उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान, प्रभात झा, प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह, नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव सांसद आलोक संजर सहित अन्य नेता मौजूद रहेंगे. भोपाल संसदीय क्षेत्र में प्रज्ञा ठाकुर का मुकाबला कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह से है. यहां 12 मई को मतदान होना है.

Related Articles