सुपरहिट फिल्म ‘Kaho Naa… Pyaar Hai’ के लेखक सागर सरहदी का निधन, जानें कैसे ली अंतीम सांसे

जाने-माने पटकथा लेखक, संवाद लेखक और निर्देशक सागर सरहदी का निधन हो गया है। फिल्म इंडस्ट्री में उनकी गिनती बेहतरीन कहानीकारों में होती है। आखिरी दिनों में उन्होंने खाना-पीना भी छोड़ दिया था।

मुंबई: जाने-माने पटकथा लेखक, संवाद लेखक और निर्देशक सागर सरहदी का निधन हो गया है। फिल्म इंडस्ट्री में उनकी गिनती बेहतरीन कहानीकारों में होती है. आखिरी दिनों में उन्होंने खाना-पीना भी छोड़ दिया था। उन्होंने मुम्बई में सायन इलाके में अपने घर में आखिरी सांस ली, सागर 88 साल के थे।  सागर सरहदी ‘कभी कभी’, ‘चांदनी’ और ‘सिलसिला’ जैसी सुपरहिट फिल्मों के लिए जाने जाते थे।

याद दिला दें कि सागर लंबे वक्त से बीमार थे और जानकारी के मुताबिक बीती रात को उनका निधन हो गया। 87 साल की उम्र में मुंबई के सायन इलाके में उन्होंने अपने आखिरी सांस ली। वहीं आज सुबह 11 से 12 बजे के बीच सागर सरहदी का अंतिम संस्कार किया जाएगा। आपको बता दें कि सागर सरहदी का जन्म 11 मई 1933 को पाकिस्तान में हुआ था। लेखक पाकिस्तान में अपना घर छोड़कर पहले दिल्ली के किंग्सवे कैंप आए और फिर मुंबई की एक पिछड़ी बस्ती में रहे थे।

लेखक ने बनाया अपना ये खास मुकाम

एक बड़े संघर्ष के बाद सागर को हिंदी सिनेमा में एक खास मुकाम मिला था। सागर अपने नाम का बॉलीवु़ड में अलग मुकाम बनाया था। सागर को बड़ा नाम यश चोपड़ा की फिल्म ‘कभी कभी’ से मिली थी। फिल्ममेकर अशोक पंडित ने सरहदी के निधन की जानकारी देते हुए सोशल मीडिया पर लिखा है, “हार्ट अटैक से जाने-माने लेखक, निर्देशक सागर सरहदी जी के निधन के बारे में सुनकर दुख हुआ।

यह भी पढ़े

राइटर के तौर पर उनकी कुछ जानी-पहचानी फिल्में ‘कभी कभी’, ‘नूरी’, ‘चांदनी’, ‘दूसरा आदमी’, ‘सिलसिला’ हैं। उन्होंने ‘बाजार’ का निर्देशन भी किया था। यह इंडस्ट्री का बहुत बड़ा नुकसान है। ओम शांति।” सरहदी खासकर स्क्रीनप्ले और डायलॉग राइटर के तौर पर जाने जाते हैं। उन्होंने हनी ईरानी और रवि कपूर के साथ मिलकर ‘Kaho Naa… Pyaar Hai’ (2000) का स्क्रीनप्ले  भी लिखा था।

Related Articles