सैमसंग ने देशभर के स्कूलों में 200 नए सैमसंग स्मार्ट क्लास जोड़े,अब डिजिटल शिक्षा से बदलेगी स्कूलों की तस्वीर

0

नई दिल्ली। सैमसंग इंडिया ने गुरुवार को अपने फ्लैगशिप सिटिजनशिप इनीशियेटिव के तहत देशभर के जवाहर नवोदय विद्यालयों, तमिलनाडु के सरकारी स्कूलों और दिल्ली पुलिस पब्लिक स्कूलों में 200 नए सैमसंग स्मार्ट क्लास जोड़ने की घोषणा की। इन नए क्लासरूम के बाद, देशभर के 652 जवाहर नवोदय विद्यालयों, तमिलनाडु के 28 सरकारी स्कूलों और दिल्ली पुलिस पब्लिक के तीन स्कूलों में सैमसंग स्मार्ट क्लास उपलब्ध हो गई हैं।

समाज में सकारात्मक बदलाव लाने और लोगों के लिए एक बेहतर जि़ंदगी का निर्माण करने के लिए सैमसंग ने सिटिजनशिप इनीशियेटिव शुरू किया है। सिटिजनशिप इनीशियेटिव, सैमसंग स्मार्ट क्लास का उद्देश्य ग्रामीण और शहरी भारत के बीच डिजिटल अंतर को कम करना और सभी वर्गो के बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के समान अवसर उपलब्ध कराना है। भारत सरकार के मानव संसाधन एवं विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, “शिक्षा का मतलब केवल पढ़ने और लिखने की योग्यता हासिल करने तक सीमित नहीं है बल्कि विस्तृत ज्ञान हासिल करना भी है। हमारे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी का लक्ष्य देशभर में शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाने का है, जिससे वंचित वर्ग के छात्रों को सही शिक्षा प्राप्त करने में मदद मिलेगी।”

उन्होंने कहा, “इसके लिए हम शिक्षा के क्षेत्र में डिजिटल टेक्नोलॉजी का अधिक से अधिक इस्तेमाल करना चाहते हैं। हमें खुशी है कि सैमसंग स्कूलों में ब्लैकबोर्ड की जगह डिजिटल बोर्ड इस्तेमाल करने के हमारे प्रयास में महत्वपूर्ण योगदान दे रहा है।” तमिलनाडु सरकार के स्कूल शिक्षा मंत्री के. ए. सेंगोट्टायन ने कहा, “तमिलनाडु की सरकार राज्य में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराने की दिशा में काम कर रही है। सैमसंग स्मार्ट क्लास के साथ किया गया समझौता इसी दिशा में उठाया गया कदम है और इससे हम वंचित वर्ग के बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने में समर्थ रहेंगे।”

Image result for सैमसंगसैमसंग साउथवेस्ट एशिया के अध्यक्ष और सीईओ एचसी हॉन्ग ने कहा, “सैमसंग स्मार्ट कलास इनीशियेटिव ने देशभर में 2.5 लाख से अधिक बच्चों की डिजिटल रूप से साक्षर बनने में मदद की है। यह इनीशियेटिव भारत के विकास के एजेंडा से काफी करीबी से जुड़ा हुआ है और कमजोर वर्ग के बच्चों तक इसकी पहुंच सुनिश्चित करने के लिए इसे कई सरकारी विभागों के साथ मिलकर चलाया जा रहा है।”

नवोदय विद्यालय समिति के सहयोग से साल 2013 में पहली सैमसंग स्मार्ट क्लास की स्थापना के बाद से अबतक करीब 2.5 लाख बच्चों ने इस सुविधा का लाभ उठाया है। इसके अलावा 8000 से ज्यादा टीचर्स को इंटरैक्टिव टेक्नोलॉजी के लिए प्रशिक्षित किया जा चुका है ताकि वह छात्रों को शिक्षित कर पाएं और सरकारी स्कूलों में टीचिंग की क्वॉलिटी में सुधार ला पाएं। हर सैमसंग स्मार्ट क्लास में इंटरैक्टिव सैमसंग स्मार्टबोर्ड, सैमसंग टैबलेट, प्रिंटर, वाई-फाई कनेक्टिविटी और पावर बैकअप की सुविधा दी गई है।

loading...
शेयर करें